- छुड़ानी में ग्रामीणों ने कहा ड्रेन की सफाई नहीं हुई, डीसी ने कहा करवाएंगे जांच जागरण संवाददाता, बहादुरगढ़:

डीसी श्यामलाल पूनिया ने शुक्रवार को अधिकारियों को साथ लेकर केसीबी ड्रेन का गांव कुलताना से लेकर छुड़ानी तक जायजा लिया। उन्होंने अधिकारियों को खेतों में भरे पानी को जल्द निकालने, ड्रेन की पटरी को मजबूत करने, छुड़ानी-मातन लिक ड्रेन का निर्माण कार्य जल्द पूरा करने के आदेश दिए। केसीबी ड्रेन टूटने से छुड़ानी गांव में 500 एकड़ से ज्यादा भूमि पर जलभराव की स्थिति बनी हुई है। डीसी ने छुड़ानी गांव में रेवाड़ी खेड़ा रोड, भदानी रोड और कबलाना रोड पर केसीबी में जल बहाव का भी जायजा लिया। डीसी ने भदानी रोड पर केसीबी ड्रेन की पटरी से ही सिचाई विभाग द्वारा मिट्टी उठाने पर अधिकारियों को फटकार भी लगाई। ग्रामीणों ने बताया कि अगर यहां से ड्रेन टूट जाती तो गांव में ही पानी भर जाता। डीसी ने केसीबी ड्रेन पर खेतों में भरे पानी को निकालने के लिए जल निकासी व्यवस्था का निरीक्षण भी किया। निरीक्षण के दौरान ग्रामीणों ने बताया कि ड्रेन टूटने और छुड़ानी-मातन लिक ड्रेन का वर्षों से अधूरा कार्य जलभराव का मुख्य कारण है। हर वर्ष उनकी फसल खराब हो रही है। डीसी ने ग्रामीणों से कहा कि प्रशासन पर भरोसा रखें। ये कार्य जल्द पूरे करवाएं जाएंगे। छुड़ानी-मातन लिक ड्रेन का टेंडर हो चुका है। निर्माण कार्य भी शुरू हो गया था, लेकिन बरसात व जलभराव के कारण निर्माण कार्य में बाधा आ रही है। पानी निकालकर जल्द ही मातन-छुड़ानी लिक ड्रेन का निर्माण कार्य दोबारा शुरू करवाया जाएगा। डीसी ने ग्रामीणों से कहा कि खेतों में जलभराव से हुए नुकसान की रिपोर्ट सरकार को भेजी जाएगी। ड्रेन की सफाई कार्य में हुई लापरवाही की जांच करवाई जाएगी। इस दौरान एसडीएम बेरी रविद्र कुमार, एसडीएम सांपला श्वेता सुहाग, तहसीलदार कनब लाकड़ा, कार्यकारी अभियंता रामनिवास आदि मौजूद थे।

Edited By: Jagran