जागरण संवाददाता, झज्जर : सरकार ने प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना के माध्यम से भी जरूरतमंद लोगों को आर्थिक सहयोग दिए जाने की पहल की है। यह बात डीसी जितेंद्र कुमार ने कही। उन्होंने जिला के लोगों को संयम व धैर्य के साथ कोरोना से दूरी बनाने की अपील की तथा कहा कि स्वयं की जागरूकता ही कोरोना की चैन को तोड़ने में बेहद मददगार रहेगी। इससे पहले डीसी जितेंद्र कुमार व एसपी राजेश दुग्गल ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा कोविड रोकथाम के मद्देनजर ली जा रही विडियो कांफ्रेंस में झज्जर जिला की गतिविधियों की विस्तार से जानकारी दी। डीसी जितेंद्र कुमार ने कहा कि योजना अनुसार पहली इंस्टॉलमेंट 330 रुपये की जन धन बैंक खाते में जमा कराने पर सरकार की ओर से रीइंबर्स होगी तथा योजना के तहत लाभपात्र को आर्थिक सहयोग दिया जाएगा। बीपीएल या एक लाख 80 हजार रुपये से कम आय है और दुर्भाग्यपूर्ण कोरोना के कारण किसी की मृत्यु होती है तो उसके परिजनों को दो लाख रुपये की आर्थिक सहायता सरकार की ओर से दी जाएगी। महामारी के समय जिन आवश्यक वस्तुओं की दुकानों को खोलने की अनुमति है, वे अपनी दुकानों के बाहर गोल दायरे लगाना सुनिश्चित करें, अन्य नियमों की पालना सुनिश्चित करें। यदि नियमों की अवहेलना होती है तो तुरंत कार्रवाई करें। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को कहा कि पंजीकृत सब्जी वालों को ही सब्जी खरीदने की अनुमति दें ताकि वे गलियों में जाकर सब्जियां बेच सकें। सिविल सर्जन को टेस्टिग बढ़ाने व आरटीपीसीआर के तहत होने वाले टेस्ट की रिपोर्ट भी जल्द लोगों को दिलाने के निर्देश दिए। ठीकरी पहरा के संबंध में भी डीसी ने संबंधित अधिकारियों को झज्जर जिला के शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में ठीकरी पहरा लगाने के आदेशों की अनुपालना करने को कहा। बैठक में एसपी राजेश दुग्गल, एसडीएम बेरी रविद्र कुमार, एसडीएम झज्जर शिखा, एचसीएस अधिकारी डा.मंगल तंवर, सीएमओ डा.संजय दहिया, डीआरओ बस्ती राम, उप सिविल सर्जन डा.मनोज सैनी, डा.रणबीर सिंह, डीआइओ अमित बंसल सहित अन्य संबंधित अधिकारीगण मौजूद रहे।