फोटो : 03, 04 तथा 06

- शहीद स्मारक पर पहुंच वीर शहीदों को किया नमन

जागरण संवाददाता, झज्जर : 1971 में हुए भारत-पाकिस्तान युद्ध के 50 साल पूर्ण होने पर विजय दिवस के अवसर पर झज्जर जिला प्रशासन की ओर से वीर शहीदों को उपायुक्त जितेंद्र कुमार ने नमन किया। बुधवार को शहीद स्मारक पर प्रशासन व जिला सैनिक एवं अर्धसैनिक कल्याण विभाग के अधिकारियों, युद्ध वीरांगनाओं ने उपायुक्त के साथ 1971 के भारत-पाक युद्ध के वीर शहीदों को पुष्प चक्र अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। पुलिस टुकड़ी की ओर से शस्त्र झुका सलामी दी गई।

उपायुक्त जितेंद्र कुमार ने शहीद स्मारक पर पुष्पचक्र अर्पित करते हुए कहा कि हमें अपने वीर-जवानों के शौर्य व बलिदानों से प्रेरणा लेनी चाहिए। बता दें कि विजय दिवस 1971 में हुए भारत-पाक युद्ध में भारत को मिली जीत की स्मृति में मनाया जाता है। आज ही के दिन पाकिस्तान के करीब 93 हजार सैनिकों ने भारतीय सेना के 1500 सैनिकों के समक्ष आत्मसमर्पण किया था जो इतिहास में आज तक का सबसे बड़ा आत्मसमर्पण माना जाता है। इसके बाद ही पूर्वी पाकिस्तान को बांग्लादेश के रूप में नया राष्ट्र बनाया गया था। 1971 में भारत ने पाकिस्तान को न सिर्फ सबक सिखाया। बल्कि बांग्लादेश नाम का एक स्वतंत्र देश बना दिया। इस युद्ध को बांग्लादेश का स्वतंत्रता संग्राम भी कहा जाता है। 16 दिसंबर, 1971 को पाकिस्तानी सेना ने सरेंडर कर दिया था और ढाका में पाकिस्तानी लेफ्टिनेंट जनरल एएके नियाजी ने भारत के लेफ्टिनेंट जनरल जगजीत सिंह अरोड़ा के समक्ष आत्मसमर्पण पत्र पर हस्ताक्षर करते हुए भारत ने विजय दिवस मनाया। उन्होंने कहा कि आज सब देशवासी अपने वीर सेनानियों के शौर्य व बहादुरी के कारण ही अमन व चैन से रह रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम सबको अपने सैनिकों के बलिदान से प्रेरणा लेनी चाहिए और देशहित में अपना योगदान करना चाहिए।

इन वीरांगनाओं को किया सम्मानित

उपायुक्त ने विजय दिवस पर गांव भदानी से शहीद सारजेंट विक्रम की वीरांगना सुमन व गांव कबलाना से शहीद राइफलमैन सुरेंद्र सिंह की विरांगना गीता को जिला प्रशासन की ओर से सम्मानित करते हुए देश के लिए वीर योद्धाओं द्वारा दिए गए बलिदान पर आभार जताया। जिला सैनिक बोर्ड के सचिव मेजर आरके शर्मा ने बताया कि 1971 के भारत-पाक युद्ध में झज्जर जिला के 61 वीर योद्धाओं ने शहादत दी थी। इस अवसर डीआइपीआरओ दिनेश कुमार, सैनिक बोर्ड के मुख्य लिपिक अजित सिंह, लिपिक सतीश कुमार सहित अन्य पूर्व सैनिकों ने भी वीर शहीदों को नमन किया।

Edited By: Jagran