फोटो : 3

- बिजली निगम कर्मचारी से मारपीट मामले को लेकर धरने पर बैठे

- कर्मचारी के खिलाफ दर्ज एफआइआर रद्द करने की उठा रहे मांग संवाद सूत्र, साल्हावास : धरने पर बैठे बिजली निगम के कर्मचारियों ने मांगे पूरी नहीं होने की सूरत में सोमवार से बेरी डिविजन के सभी कर्मचारियों द्वारा हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है। साथ ही कहा कि अगर इस दौरान बिजली सप्लाई में कोई भी दिक्कत आती है तो हड़ताली कर्मचारी उसे दुरुस्त नहीं करेंगे। ऐसे में आम लोगों को परेशानी झेलनी पड़ सकती हैं। इधर, मौजूदा समय में बिजली निगम कर्मचारी के खिलाफ दर्ज की गई एफआइआर को रद्द करने की मांग को लेकर कर्मचारी निगम के मातनहेल सब डिविजन निगम कार्यालय में धरने पर बैठे हैं। बता दें कि 25 जनवरी को पूर्णमल लाइनमैन अपनी टीम के साथ गांव मुंदसा में निगम के कार्य से गया हुआ था। पूर्णमल ने बताया कि इस दौरान गांव का एक व्यक्ति कुंडी डालकर बिजली चोरी कर रहा था। टीम ने जब उक्त व्यक्ति को बिजली चोरी करने से रोका तो उसने अपने साथियों के साथ मिलकर निगम की टीम पर हमला बोल दिया। इस हमले में पूर्णमल को चोटें भी आई। निगम ने इसकी शिकायत पुलिस को दी। वहीं दूसरे पक्ष ने भी इस मामले को लेकर बिजली निगम कर्मचारी के खिलाफ पुलिस को दे दी। पुलिस ने दोनों की शिकायतों पर मामले दर्ज कर लिए थे। लेकिन अब निगम कर्मचारी के खिलाफ दर्ज एफआइआर को रद्द करवाने के लिए कर्मचारियों ने घटना के बाद धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया था। उस समय अधिकारियों का आश्वासन मिलने के बाद धरना समाप्त कर दिया। लेकिन अभी तक एफआइआर रद्द नहीं होने के चलते कर्मचारियों ने एक दफा फिर से धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया है। शुक्रवार को भी मातनहेल सब डिविजन कार्यालय में धरना जारी रहा। विरोध स्वरूप सब डिविजन के कर्मचारियों ने काम बंद करने का फैसला किया है। बॉक्स : एचएसईबी वर्कर यूनियन के सब यूनिट प्रधान जेई दीपक सोलंकी, सेक्रेटरी लाइनमैन सतेंद्र, बेरी यूनिट प्रधान विक्रम, सेक्रेटरी उमेद, सर्कल सेक्रेटरी कृष्ण व प्रधान हरेंद्र, उप प्रधान जगजीत, सचिव नरेश, सह सचिव अमित तथा कोषाध्यक्ष अजीत ने कहा कि अगर रविवार तक एफआइआर रद्द नहीं की गई तो सोमवार से बेरी डिविजन के सभी कर्मचारी हड़ताल पर चले जाएंगे। हड़ताल के दौरान कर्मचारी ब्रेक डाउन व मरम्मत संबंधित कोई भी कार्य नहीं करेंगे। अगर बिजली सप्लाई में कोई बाधा उत्पन्न हुई तो उसे कर्मचारियों द्वारा दूर नहीं किया जाएगा। उन्होंने चेतावनी देते हुए जल्द से जल्द एफआइआर रद्द करने की मांग की।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस