जागरण संवाददाता, झज्जर : शुक्रवार को प्रदेश कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर जिला के कांग्रेसियों ने शहर में प्रदर्शन के बाद आंबेडकर चौक पर प्रधानमंत्री का पुतला फूंका। केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए कांग्रेसियों ने कर्नाटक में घटित हो रहे घटनाक्रम को लोकतंत्र की हत्या करार दिया है। तय कार्यक्रम के अनुसार इससे पूर्व कांग्रेसी शहर के टाउन पार्क में एकत्रित हुए और फिर प्रधानमंत्री के पुतले को लेकर यहां आंबेडकर चौक पर पहुंचे ।

यहां पर उपस्थित कांग्रेसी नेताओं ने अपने संबोधन में कहा कि कर्नाटक के विधानसभा चुनावों में किसी भी दल को बहुमत नहीं मिला। जबकि कांग्रेस पार्टी और जेडीएस के विधायकों को मिलाया जाए तो यह संख्या बहुमत से भी ज्यादा होती है। जिसे लेकर महामहिम राज्यपाल को पत्र भी सौंपा गया। लेकिन कर्नाटक में राज्यपाल ने बीजेपी को सरकार बनाने का न्योता दिया। यहां उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि जिस प्रकार का घटनाक्रम घटित हो रहा है वह लोकतंत्र के लिए उचित नहीं है। इससे पहले भी देश के कई राज्यों में संपन्न हुए चुनावों में ऐसे असंवैधानिक कार्य किए गए है। जिसके कारण आज लोगों में भी नाराजगी पनपने लगी है।

कांग्रेसी नेताओं का कहना है कि संविधान के अनुसार जब किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिलता तब उस दल के नेता को मुख्यमंत्री या प्रधानमंत्री बनाया जाता है जिसके पास विधायकों या सांसदों की संख्या ज्यादा हो। लेकिन कर्नाटक में जिस प्रकार का रवैया सामने आया है। उससे तो यह स्पष्ट हो चला है कि केंद्र सरकार के हस्तक्षेप के कारण ही ऐसा हो रहा है। जो कि सरासर गलत है।

इस मौके पर उदय भान पूनिया, प्रोफेसर डॉक्टर कुलताज ¨सह, राजेश जून , संगठन सचिव हरियाणा कांग्रेस कमेटी बिजेंदर रंगा, जिला बार के प्रधान कृष्ण कादियान , राज पहलवान , पार्षद प्रतिनिधि हरीश यादव, श्याम सिलाना, नरेश वाल्मिकी, सुरेश वाल्मिकी, सतीश छिक्कारा, डॉक्टर सन्दीप सैनी , नंदू भटनागर धर्म ¨सह , सतबीर मौजूद रहे।

By Jagran