बहादुरगढ़, जेएनएन। संयुक्त किसान मोर्चा की मंगलवार को सिंघु बॉर्डर पर प्रस्तावित बैठक से पहले टीकरी बॉर्डर पर योगेंद्र यादव ने सोमवार को हरियाणा के किसान संगठनों के नेताओं के साथ बहादुरगढ़ में कई घंटों तक मंथन किया। सभी के सुझाव लिए और उनके आधार पर कई एजेंडे तय किए गए, जो मोर्चा की बैठक में रखे जाएंगे। एजेंडों को लेकर तो हरियाणा के नेताओं ने स्थिति साफ नहीं की, लेकिन इस बार प्रभावी प्रस्ताव रखने का इरादा है। इसके अलावा हरियाणा के संगठनों की इस बैठक में तय हुआ कि टीकरी, सिंघु, शाहजहांपुर व सुनहेड़ा (पुन्हाना) बॉर्डरों पर किसानों की संख्या बढ़ाई जाएगी।

गिरफ्तार आंदोलनकारियों को रिहा करने की उठी मांग

टीकरी बॉर्डर पर किसान नेता जोगेंद्र नैन की अध्यक्षता में बैठक में गिरफ्तार आंदोलनकारियों को रिहा करवाने तथा दिल्ली व हरियाणा में दर्ज किए गए मामलों को रद करवाने के लिए कदम उठाने का फैसला हुआ। महम पुलिस द्वारा भाजपा सांसद रामचंद्र जांगड़ा को काले झंडे दिखाने पर 200 से ज्यादा किसानों पर मुकदमा दर्ज करने की निंदा की गई। साथ ही कहा गया कि भाजपा व जजपा नेताओं का बहिष्कार जारी रहेगा।

संयुक्त किसान मोर्चा की घोषणाओं पर करें अमल

इस बैठक में दूध के भाव बढ़ाने तथा गेहूं की फसलों को नष्ट करने संंबंधी गतिविधियों पर यह अपील की गई कि संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा घोषित कार्यक्रमों के अतिरिक्त अन्य कोई विवादास्पद गतिविधियां न करें। इससे किसान आंदोलन में भटकाव पैदा होता है। टीकरी बॉर्डर पर बिजली व पानी की समस्याओं पर संयुक्त किसान मोर्चा हरियाणा का प्रतिनिधिमंडल स्थानीय अधिकारियों से मिलेगा। आंदोलन की अब तक की गतिविधियों की समीक्षा रिपोर्ट इंद्रजीत सिंह ने रखी। योगेंद्र यादव ने कहा कि आंदोलन से किसानों का सम्मान बढ़ा है।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021