जागरण संवाददाता, रोहतक। महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के सहायक पद पर कार्यरत नरेश अहलावत के कमर में दर्द रहता था। चिकित्सकों के चक्कर काटे, महंगी दवा भी खानी पड़ी। लेकिन आराम नहीं मिला। फिर एक दिन योगाचार्य ने उसे योग करने की सलाह दी।

विश्वविद्यालय परिसर में लगे योग शिविर में जाना शुरू किया तो कमर दर्द से राहत मिली। जिन योग क्रियाओं से राहत मिली, उनको नियमित करना शुरू किया, जिससे दर्द पूरी तरह से गायब हो गया। योग से ऐसी राह मिली, नरेश अब योग को लेकर न केवल अलख जगा रहे हैं बल्कि खुद भी प्रशिक्षण देना शुरू कर दिया है।

योग ने कमर दर्द से दिलाई राहत

एमडीयू के छात्र कल्याण विभाग में सहायक नरेश अहलावत ने बताया कि उसकी कमर में दर्द रहता था। चिकित्सकों से परामर्श लिया और दवाई ली। लेकिन इसका ज्यादा असर दिखाई नहीं दिया। फिर एक दिन आचार्य बलबीर सिंह से मुलाकात हुई। उन्होंने कमर दर्द को लेकर योग करने की सलाह दी। उन्होंने बिना देरी किए योग कक्षाएं शुरू की, जो कमर दर्द से राहत दिलाने में कारगर साबित हुई। 2019 में योग के प्रति रूचि हुई। योग क्रियाओं को सीखने के बाद दूसरों का योग करने के लिए प्रेरित किया गया।

कोरोना काल में योग की दिखी ताकत

नरेश अहलावत ने बताया कि योग की असली ताकत कोरोना काल में देखने को मिली। उन्होंने विश्वविद्यालय में लोगों को योग प्रशिक्षण दिया, जिससे मानसिक और शारीरिक रूप से लोगों को मजबूती मिली योग के फायदें और लोगों के रूझान को देखते हुए नियमित रूप से इसे अपना लिया। मई 2020 में चिल्ड्रन पार्क में योग शिविर लगाया, जिसमें सैकड़ों लोगों को प्रशिक्षण दिया गया। योग को बढ़ावा देने के लिए अब छात्र कल्याण विभाग ने ही त्रिमासिक योग शिविर कार्यक्रम शुरू कर दिया है। विभाग की तरफ से अक्टूबर 2021 में फिर योग

प्रशिक्षण दिया। अब जून 2022 में निश्शुल्क योग शिविर लगाया, जिसमें सैकड़ों लोगों ने हिस्सा लिया।

योग सेवा सम्मान से नवाजा गया

नरेश अहलावत के योग को बढ़ावा देने और लोगों को निःशुल्क प्रशिक्षण देने पर एमडीयू के छात्र कल्याण विभाग और योग अध्ययन केंद्र की तरफ से योग सेवा सम्मान पुरस्कार से नवाजा गया है। छात्र कल्याण विभाग के अधिष्ठाता प्रो. राजकुमार ने बताया कि सहायक नरेश अहलावत योग को बढ़ावा देने के लिए पूरी सेवा भाव से कार्य कर रहे हैं। योग के प्रचार-प्रसार के लिए छात्र कल्याण विभाग ने त्रिमासिक कार्यक्रम शुरू कर दिया है, जिसमें नरेश अहलावत पूरी लग्न से प्रशिक्षण देते हैं । इसका विवि समुदाय को काफी लाभ भी मिल रहा है।

Edited By: Rajesh Kumar