हिसार, जेएनएन। हिसार जिले ने दो सप्ताह पानी की मांग को लेकर हिसार न्यायालय परिसर में वर्ष 2018 में लम्बा आंदोलन चलाया। किसानों की सरकार के साथ 20 बिंदुओं पर सहमति बनी थी। किसानों के प्रयास से हिसार और भिवानी जिले में सिंचाई और पेयजल पानी मिल सकेगा। हिसार और भिवानी जिले में पानी की मांग पूरी हो  इसके लिए बालसमंद और बरवाला माइनर पर काम चल रहा है। इसके तहत बरवाला ब्रांच सहित अन्य नहरों, रजबाहों और माइनर इत्यादि का पुनरुद्धार व मरम्मत का कार्य कर जलापूर्ति क्षमता बढ़ाई जाएगी। 0-52 बुर्जी रिमॉडलिंग कैपेसिटी रिवाइज कार्य प्रगति पर है। 1450 क्यूसिक पानी की कॅपॅसिटी बढ़ाकर 2000 क्यूसिक करने के प्रोजेक्ट पर कार्य चल रहा है।  

ये कार्य चल रहे प्रगति पर

बरवाला बालसमंद ब्रांच पर रैंगिंग और रिमॉडलिंग 65 करोड़।

हिसार से कबीर हेड नई नहर - 19.80 करोड़।

न्यू सिवानी माइनर -  75 करोड़ 20 लाख।

सीसवाला हेड से 6 गांवों का पेयजल प्रोजेक्ट - 32 करोड़।

बीस साल से बंद न्यू सिवानी फीडर को मिलेगा पानी

पिछले बीस वर्षो से न्यू सिवनी फीडर बंद पड़ी है। भिवानी क्षेत्र के लोग नहर में पानी के लिए वर्षो से पानी की बांट देख रहे है। अब इस नहर के निर्माण कार्य का टेंडर हो चूका है कार्य प्रगति पर है। जल्द ही भिवानी जिले के किसानो को पर्याप्त पानी मिल सकेगा।

---संयुक्त जल संघर्ष समीति के प्रधान कुरड़ाराम नंबरदार ने बताया कि वर्ष 2018 के आंदोलन में सरकार के साथ पर्याप्त पानी की मांग को लेकर 20 बिन्दुओ पर सहमति बनी थी। 16 बिन्दुओ पर कार्य प्रगति पर है। जल्द ही भिवानी और हिसार जिले के किसानो को पर्याप्त पानी मिल सकेगा। - कुरड़ाराम नम्बरदार, बालसमंद।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप