- अदालत में पेश कर आरोपी विक्रम के नार्को टेस्ट सहित अन्य दो टेस्ट करवाने की लगाई दरख्वास्त

- डीएसपी के गनमैन पर अपनी पत्नी रिकू की हाउसिग बोर्ड में हत्या करने का है आरोप, चार मार्च को अगली होगी

जागरण संवाददाता, हिसार : लॉकडाउन के दौरान 16 अप्रैल को सिरसा रोड स्थित हाउसिग बोर्ड में अपनी पत्नी की हत्या के मामले में आरोपित जांच में सहयोग नहीं कर रहा है। शनिवार को पुलिस ने आरोपी विक्रम को पांच दिन के रिमांड के बाद ड्यूटी मजिस्ट्रेट जेएमआइसी अमनदीप की अदालत में पेश किया। पीड़ित पक्ष से अधिवक्ता हरदीप सिंह सुंदरिया ने बताया कि डीएसपी अभिमन्यु लौहान ने अदालत में कहा कि आरोपी विक्रम जांच में किसी प्रकार का सहयोग नहीं कर रहा है। अदालत से इस पर आरोपी विक्रम का नार्को टेस्ट, लाइ डिटेक्टर टेस्ट और ब्रेन मैपिग टेस्ट करवाए जाने की दरख्वास्त भी डीएसपी ने की। जिस पर अदालत ने एक मार्च का नोटिस जारी करते हुए मामले में सीजेएम वर्षा जैन की अदालत पर फैसला छोड़ दिया। मामले में एक मार्च को सीजेएम वर्षा जैन की अदालत तय करेगी कि आरोपी विक्रम के ये तीनों टेस्ट करवाए जाएंगे या नहीं। अधिवक्ता हरदीप सिंह सुंदरिया ने बताया कि जब अदालत ने डीएसपी अभिमन्यु लौहान से पूछा कि आरोपी विक्रम से सर्विस रिवाल्वर बरामद हुई या नहीं। इस पर डीएसपी ने बताया कि घटना वाले दिन ही ये रिवाल्वर जींद कोर्ट में जमा करवा दी गई थी और शाम को अन्य गनमैन के नाम ये रिवाल्वर अलॉट हो गई थी।

---------

चार मार्च को डा. पंकज की अदालत में भी सुनवाई

25 फरवरी को एडीजे डा. पंकज की अदालत में डीएसपी अभिमन्यु ने अदालत में सुनवाई के लिए अगली तारीख की मांग की थी। अदालत ने चार मार्च की तारीख निर्धारित की थी। मामले में पीड़ित पक्ष के अधिवक्ता हरदीप सिंह सुंदरिया ने बताया कि डीएसपी अभिमन्यु ने अदालत में बताया कि विक्रम का पांच दिन का रिमांड बाकि है। उन्होंने बताया कि आरोपित विक्रम से जांच के लिए दौरान कुछ खास सुबूत मिले हैं। लेकिन विक्रम का दो दिन का रिमांड बाकी है। डीएसपी अभिमन्यु लोहान ने अदालत में स्टेटस रिपोर्ट पेश की थी। अदालत ने पुलिस को इस मामले की जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप