संवाद सहयोगी, नारनौंद : रोहित हत्याकांड के आरोपितों की गिरफ्तारी को लेकर चल रहा धरना नौवें दिन भी जारी रहा। धरने पर हांसी के डीएसपी सतेन्द्र कुमार पहुंचे और धरने को खत्म करने की गुहार लगाई। मगर मृतक के परिजनों ने धरना खत्म करने से इनकार कर दिया और इस मामले की जांच एसआइटी से करवाने की मांग की।

करीब दो साल पहले हुई रोहित की हत्या के आरोपितों को आज तक भी पुलिस नहीं पकड़ पाई है। इसको लेकर परिजन धरने पर बैठे हुए हैं और धरने पर हर रोज सैकड़ों लोग समर्थन देने के लिए पहुंच रहे हैं। बुधवार को हांसी हेड क्वाटर के डीएसपी सतेन्द्र कुमार धरना स्थल पर पहुंचे और पीड़ित परिवार से बातचीत करते हुए कहा कि पुलिस मामले की गहनता से जांच कर रही है और जल्द ही आरोपितों तक पहुंच जाएगी। उन्होंने परिजनों से धरना खत्म करने की गुहार भी लगाई। मगर परिजनों ने धरना खत्म करने से इंकार कर दिया और कहा कि जब तक उसके हत्यारों को पुलिस सामने नहीं लाएगी तब तक उनका धरना जारी रहेगा। वहीं डीएसपी ने परिजनों से इस मामले की जांच एसआइटी से करवाने को भी कहा तो परिजनों ने कहा कि एक तय समय सीमा के अंदर जांच पूरी होनी चाहिए। वहीं इस मामले को लेकर गठित की गई कमेटी के सदस्यों ने बताया कि धरने को तेज करने के लिए कमेटी की एक मीटिग की जाएगी और उसमें ठोस निर्णय लेकर धरने को ओर तेज किया जाएगा ताकि सोये हुए प्रशासन की आंख खुल सके।

मृतक के पिता बजे सिंह ने बताया कि डीएसपी ने इस मामले की जांच एसआइटी से करवाने के लिए कहा है। हमें तो हमारे बेटे के हत्यारे चाहिए चाहे पुलिस इसकी जांच किसी से भी करवाए। जब तक उसके हत्यारे नहीं पकड़े जाएंगे, तब तक वो धरने पर ही बैठे रहेंगे। वर्जन:::::::::::

वो पुलिस अधीक्षक की तरफ से पीड़ितों से मिलने के लिए गए थे। अगर उसके परिजन चाहेगें तो इस मामले की जांच के लिए एसआइटी का गठन कर दिया जाएगा। पुलिस मामले की गहनता से जांच कर रही है। जल्द ही आरोपितों की पहचान कर ली जाएगी।

सतेन्द्र कुमार, डीएसपी

Posted By: Jagran