जागरण संवाददाता, सिरसा। नौतपा में गर्मी का असर बढ़ रहा है। सूर्य निकलते ही गर्मी की तपिश बढ़ने लगती है। हालांकि बीच बीच में मौसम करवट भी बदल रहा है। सूर्य के नक्षत्र बदलते ही नौतपा शुरू हो जाते हैं। नौतपा यानि नौ दिनों तक सुबह से लेकर रात तक लू चलती रहती है। किसी भी वक्‍त गर्मी से राहत नहीं मिलती। हालांकि इस बार नौतपा में ऐसी स्थिति देखने को नहीं मिली है। एक के बाद एक करके आए दो पश्चिमी विक्षोभों ने नौतपा का असर कम कर दिया। मगर अब पश्चिम विक्षोभ गुजर चुका है। इस कारण तपिश बढ़ने लगी है। इसकी वजह यह है कि इस दौरान सूर्य की लंबवत किरणें धरती पर पड़ती हैं।

नौतपा के पांचवें दिन अधिकतम तापमान 42.4 डिग्री व न्यूनतम तापमान 26.8 डिग्री तक रहा। नौतपा 2 जून तक जारी रहेंगे। इसके बाद ही गर्मी से राहत मिलने की उम्मीद है। इस दौरान अगर बारिश होती है। इससे काफी फायदा मिलेगा। चौधरी चरण सिंह कृषि विश्वविद्यालय के मौसम वैज्ञानिक डा. मदनलाल खिचड़ ने बताया कि सोमवार को भी मौसम आमतौर पर खुश्क रहने की संभावना है। इस दौरान दिन के तापमान में बढ़ोतरी तथा बीच-बीच में हवाएं चलने की संभावना है।

---बाहर निकलते समय बरते सावधानी

नौतपा के दिनों में शरीर तेजी से डिहाइड्रेट होता है, जिसके कारण डायरिया, पेचिस, उल्टियां होने की संभावना बढ़ जाती हैं। इसलिए नीबू-पानी, लस्सी, खीरा, ककड़ी, तरबूज, खरबूजे का भरपूर प्रयोग करें। बाहर निकलते समय सिर को ढक कर रखें। वहीं बार बार पानी पीए। जिससे शरीर में पानी की कोई कमी न रहे। इन दिनों में हल्का व शीघ्र पचने वाला भोजन करें। वहीं समय-समय पर आवश्यकतानुसार ग्लूकोज का सेवन करते रहे और अपनी ऊर्जा का इस्तेमाल अनावश्यक न करें।

--दोपहर बाद सुनसान नजर आती है सड़कें

नौतपा में गर्मी बढ़ने से लोग घरों से निकलने में परहेज कर रहे हैं। बाजारों में सुबह व शाम के समय ही चहल पहल ज्यादा रहती है। दोपहर बाद सड़क सुनसान नजर आती है। दुपहिया वाहनों की संख्या नाममात्र ही दिखी। जो नजर आए वह गर्मी से बचने के लिए गोमछा से अपने चेहरे को ढके हुए थे। रविवार को अवकाश होने पर लोग घरों के अंदर ही दुबके रहे।

Edited By: Manoj Kumar