जागरण संवाददाता, हिसार: पुरानी सब्जी मंडी के नजदीक ठंडी सड़क पर वाल्मीकि बस्ती में एक वाटर प्लांट कर्मचारी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। रविवार सुबह प्लांट में कर्मचारी की मौत की सूचना से बस्ती में अफरा-तफरी मच गई। प्लांट के आगे बस्ती वासियों की भीड़ लग गई। इस दौरान प्लांट मालिक ने पुलिस को सूचना दी तो पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर सिविल अस्पताल के पोस्टमार्टम हाउस में भिजवाया। सिविल अस्पताल से रेफर करने के बाद अग्रोहा मेडिकल में शव का पोस्टमार्टम किया गया। डाक्टरों ने पोस्टमार्टम कर विसरा जांच के लिए करनाल के मधुबन स्थित लैब में भिजवाया है। जहां से रिपोर्ट आने के बाद ही प्लांट कर्मचारी की मौत की वजह का खुलासा हो सकेगा। फिलहाल मृतक के मामा के बयान पर इस मामले में पुलिस ने 174 की कार्रवाई की है।

पुलिस से मिली सूचना के अनुसार मृतक 21 वर्षीय जोंटी मुख्यत: उत्तर प्रदेश के सम्भल जिले के चंदौसी गांव का रहने वाला था। वह वाल्मीकि बस्ती स्थित विक्रम चिल्ड वाटर प्लांट में पानी के कैंपर की सप्लाई का काम करता था। शनिवार रात को वह अपने एक साथी के साथ खाना खाकर प्लांट में ही ऊपर बने कमरे में अपने पास तसले में आग रखकर सोया था। पुलिस के अनुसार प्राथमिक जांच में सामने आया है कि जोंटी की कमरा बंद होने व आग से निकले धुएं से दम घुटने के कारण हुई है। कमरे में कोई रोशनदान नहीं था। जिसके कारण धुआं कमरे से बाहर नहीं जा सका।

-------------------

रात को खाना खाकर सोए थे, सुबह देखा तो मृत पड़ा था जोंटी

मैं उतरप्रदेश के जिला राघोली के भट्टपूरा गांव का रहने वाला हूं। करीब 10 दिन पहले ही यहां आया था। मैं एक अन्य वाटर प्लांट में पानी की सप्लाई का काम करता हूं। पिछले दस दिनों से विक्रम चिल्ड वाटर प्लांट में ही सोता हूं। शनिवार रात 9 बजे के करीब मैं प्लांट के ऊपर बने एक कमरे में जोंटी के साथ था। हम दोनों ने खाना खाया और तसले में आग जलाकर थोड़ी देर बैठ कर बाते करते रहे। इसके बाद वह अपने कमरे में सोने चला गया था। जोंटी को सर्दी अधिक लगती थी, इसलिए वह तसले में आग जलाकर अपने पास रखकर सोता था। उसे बिना कपड़ों के सोने की आदत थी। रविवार सुबह थोड़ी देर से पानी की सप्लाई करते हैं तो करीब 7.30 बजे मैं उठा था। थोड़ी देर बाद जोंटी को जगाने के लिए आवाज लगाई, वह नहीं आया तो उसके कमरे का लॉक खोलकर कमरे में गया। उसे हिलाया, लेकिन वह बेसुध पड़ा था। उसके मुंह पर उल्टी लगी हुई थी तथा उसके पास उल्टी पड़ी हुई थी। उसने शौच भी की हुई थी। मैंने इस बात की सूचना प्लांट मालिक विक्रम और जोंटी के मामा शिव कुमार को दी।

- जैसा जयकरण ने बताया।

------------------

मामा बोला- पांच साल से हमारे पास रह रहा था जोंटी

जोंटी के मामा शिव कुमार ने बताया कि वह ऋषि नगर में रहते हैं। सुबह 8 बजे के करीब फोन पर जोंटी की मौत की सूचना मिली। शिव कुमार ने बताया कि जोंटी पिछले करीब पांच सालों से उनके पास ही रह रहा है। उसने शहर के एक निजी स्कूल में दसवीं की पढ़ाई की थी। इसके बाद वह पिछले ढाई सालों से वाटर प्लांट पर काम रहा था।

-----------

नग्न अवस्था में मिली है बॉडी

सूचना मिलने पर मौके पर जाकर देखा तो जोंटी नग्न अवस्था में पेट के बल पड़ा हुआ था। मौके पर पहुंचकर डाक्टर की टीम बुलाई थी। डा. अजय ने बंद कमरे में आग जलने से दम घुटने को मौत का कारण बताया है। बाकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही मामले की सच्चाई का पता लगेगा।

- वीरेंद्र, हेड कांस्टेबल, डोगरान मुहल्ला चौकी, हिसार।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस