हिसार, जेएनएन। गांव ढंढूर व हिसार समेत आसपास के लोगों के लिए राहत की खबर है। गांव ढंढूर के पास बने नगर निगम के डंपिंग स्टेशन पर पड़ा कई लाख टन लिगेसी वेस्ट (पुराना कूड़ा) के निस्तारण के लिए अब नगर निगम प्रशासन ने ठेकेदार के माध्यम से कार्य शुरु करवा दिया है। सोमवार को ठेकेदार ने एक पोकलेन और एक जेसीबी मशीन डंपिंग स्टेशन पर लगा दी है। इन मशीनों के माध्यम से पहले कचरे के आखिरी प्वाइंट तक जाने के लिए रास्ते बनाए जा रहा है उसके बाद कचरे के निस्तारण के लिए कार्य शुुरु करवाया जाएगा। ऐसे में अब ठेकेदार ने लिगेसी वेस्ट टेंडर के तहत अपने कार्य की शुरुआत कर दी है। इस कार्य से शहर के पुराने कचरे का निस्तारण हो पाएगा।

कैसे होगा लिगेसी वेस्ट निस्तारण

ठेकेदार की टीम पहले नगर निगम के डंपिंग स्टेशन पर पड़े कचरे को अलग अलग करेगा। उसमें लिगेसी वेस्ट से कंक्रीट, पॉलीथिन, प्लास्टिक की बोतलें, मिट्टी सहित अन्य पदार्थ को अलग अलग किया जाएगा। इसके बाद जिस वेस्ट को रिसाइकिल किया जा सकता है उसे बाद में रिसाइकिल करवाया जाएगा। इस प्रकार नगर निगम प्रशासन डंपिंग स्टेशन पर प्रतिदिन डाले जा रहे कचरे का निस्तारण करेगा। अब नगर निगम का कचरा निस्तारण के तहत यह मुक्त टारगेट है कि इस कचरे का पूर्ण रुप से निस्तारण करवाकर डंपिंग स्टेशन पर लगे कचरे के पहाड़ों को खत्म किया जा सके।

शहर में कचरे की ये है स्थिति

प्रतिदिन शहर से औसतन 180 टन कचरा निकलता है। पिछले 10 साल से अधिक समय से प्रतिदिन गांव ढंढूर स्थित डंपिंग स्टेशन पर नगर निगम प्रशासन शहर से निकलने वाला कचरा डाल रहा है। यह कचरा आसपास की 15 हजार से अधिक आबादी के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है। कारण है कि इस कचरे में सालों से आग लगने का सिलसिला नहीं थम रहा है। जिस कारण कचरे में आग के कारण् निकलने वाला धुआं आसपास के निवासियों के लिए बीमारी का कारण बन रहा है। गांव ढंढूर के सरपंच मनोज शर्मा की माने तो कचरे में आग से निकलने वाले धुएं के कारण गांव के लगभग सभी बुजुर्ग दमा, चर्म या अन्य  बीमारियों का धुएं के कारण शिकार हो चुके है। इस धुएं ने लोगों के जीवन को नरक बना दिया है। क्योंकि बुजुर्ग के अलावा बच्चे व बड़े भी धुएं के कारण बीमारियों के शिकार हो रहे है।

ये भी जानें

प्रदेश मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने 29 दिसंबर 2014 को सॉलिड वेस्ट मैनजेमेंट प्लांट लगाने की घोषणा की थी। ताकि शहर के कचरे का सही से निस्तारण हो और जनता को डंपिंग स्टेशन के कारण होने वाली परेशानी से राहत मिल सके। प्रदेश मुख्यमंत्री की घोषणा के प्रति प्रशासन कितना गंभीर है इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि आज तक प्लांट लगाना तो दूर उसके लिए नियमानुसार जमीन भी प्राप्त नहीं कर पाया है।

कचरे का सहीं से निपटान नहीं होने के कारण ही स्वच्छता की दौड़ में पिछड़ता रहा है हिसार

- साल 2020 में हिसार की रैंकिंग - 105

- साल 2019 में हिसार की रैंकिंग - 173

- साल 2018 में हिसार की रैंकिंग - 146

- साल 2017 में हिसार की रैंकिंग - 291

-------गांव ढंढूर के पास बने नगर निगम के डंपिंग स्टेशन पर ठेकेदार ने मशीनें लगा दी है। अब लिगेसी वेस्ट का निस्तारण किया जाएगा।

- सुभाष सैनी, मुख्य सफाई निरीक्षक, नगर निगम हिसार।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप