संवाद सहयोगी अग्रोहा : खासा महाजन के जाखौद माइनर मोगा नंबर 6790 पर बनी खाल किसानों के लिए परेशानी का सबब बनी हुई। किसान दो सालों से अधिकारियों के आगे अपना दुखड़ा सुना चुके हैं, लेकिन अधिकारी हैं कि उनकी सुनने को तैयार ही नहीं हर बार आश्वासन के सिवाय किसानों को कुछ नहीं मिला। केवल आश्वासनों के कारण दो सालों से किसान अपनी फसल नहीं ले पा रहे है। खासा महाजन के किसान मानसिंह भांभू, सतबीर कुलरिया, सतबीर भांभू,हनुमान ढाका, सरजीत,जयबीर,रमेश भलेराम आदि ने बताया कि इस मोगे पर दो साल पहले सिचाई विभाग की तरफ से पक्के खाले का निर्माण किया गया था। निर्माण कार्य करते समय जेई व ठेकेदार ने मिलीभगत कर खाले में घटिया स्तर की सामग्री का प्रयोग किया। किसानों ने बताया कि नाले के बनने के पश्चात जैसे ही इसमें पानी आया नवनिर्मित पक्का नाला जगह-जगह से टूट गया और पानी किसानों की खड़ी फसलों में ठहरने लगा। नाला टूटने और आगे पानी ना जाने से कुछ किसान अपनी फसलों में पानी लगाने से भी वंचित रहने लगे। किसानों ने बताया कि इसकी शिकायत बड़े स्तर के अधिकारियों तक कर चुके है लेकिन कोई कार्यवाई नहीं हुई। किसानों का कहना है अधिकारियों की टालम टोली से वो दो साल से अपनी फसलों की पैदावार नहीं ले पा रहे है। किसानों ने प्रशासनिक अधिकारियों से मांग की है कि उनकी सुनवाई की जाए जिससे वो अपनी फसलों की पैदावार ले सके।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप