जागरण संवाददाता, हिसार : नगर निकायमंत्री डा. कमल गुप्ता ने शुक्रवार को हिसार के शहरी विकास प्राधिकरण(एचएसवीपी) कार्यालय पर सुबह सवा नौ बजे अचानक औचक निरीक्षण किया। मंत्री ने जाते ही कार्यालय के दोनों गेट बंद करवा दिए और एक-एक सीट पर जाकर कौन अधिकारी या कर्मचारी आया है या नहीं आया इसकी जांच करने लगे। सबसे पहले पहले उन्होंने ग्राउंड फ्लोर पर बने प्रशासक कार्यालय, ईअो आफिस, एकाउंट ब्रांच का निरीक्षण किया। उन्हाेंने एक-एक कर सभी ब्रांचों में जाकर रजिस्ट्रर देखे और मौके पर ही गैर हाजिरी भरी। इसके बाद वह प्रथम तल पर भी गए।

यहां उन्होंने देखा कि पब्लिक डीलिंग से जुड़े विभागों के आलाधिकारी और कर्मचारी सभी गायब थे। एसई, एक्सईएन, एसडीओ से लेकर जेई सभी गैर हाजिरी मिले। एसडीओ इलेक्ट्रिकल को छोड़कर कोई भी उपस्थित नहीं था। मंत्री ने सबकी रजिस्टर में हाजिरी भर दी। मंत्री ने सुपरिटेंडेंट से पूछा कि कौन-कौन आया है और कौन कब से फरलो मार रहा है। इसकी लिस्ट बनाकर दो। मंत्री के निरीक्षण के दौरान एक बात निकल कर सामने आई कि ब्रांचों में उपस्थित कर्मचारी अपने सहयोगी साथियों व अफसरों का बचाव करते नजर आए मगर मंत्री जी के सवालों में वह उलझ गए और शर्मिंदगी उठानी पड़ी। 

मंत्री बोले- झूठ बोलोगे तो भगवान को क्या मुंह दिखाओगे

निकाय मंत्री डा. कमल गुप्ता ने एक कर्मचारी को अपने साथी को फोन मिलाते हुए पकड़ा। मंत्री ने उससे पूछा तो कहा दोस्त से बात कर रहा था। मंत्री के बार-बार प्रश्न करने पर उसने बात स्वीकारी कि वह झूठ बोल रहा है उसे माफ कर दो। मंत्री ने कहा कि झूठ बोलोगे तो जनता कि कैसे सेवा करोगे भगवान को क्या मुंह दिखाओगे। 

प्रशासक बोले मैं दो जनवरी से अवकाश पर हूं

वहीं निकायमंत्री के निरीक्षण के दौरान गैरहाजिर मिले प्रशासक राजेश जोगपाल ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि वह दो जनवरी से अवकाश पर चल रहा हूं और उच्च अधिकारियों के संज्ञान में लाकर अवकाश लिया हुआ है। वहीं ईओ की तरफ से अभी कोई पक्ष नहीं आया है।

ज्यादातर कर्मचारी दिखा रहे लीव

वहीं अनुपस्थित रहने वाले अधिकतर कर्मचारी अब खुद बचने के लिए अपने को अवकाश पर जाने की बात कहकर बचा रहे हैं। अनुपस्थित रहने वाले जेई चंद्रमोहन से बात की तो उन्होंने बताया कि वह तो अवकाश पर चल रहे हैं। मगर अधिकतर कर्मचारियों से यही जवाब मिला।

मंत्री करेंगे पूरी जांच

वहीं डाक्टर कमल गुप्ता वहां मौजूद अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा अन्य कर्मचारियों के बचाव के लिए कही बातों से संतुष्ट नजर नहीं आए। वह अपने साथ सभी विभागों के रजिस्टर ले गए हैं।

Edited By: Manoj Kumar