जागरण संवाददाता, रोहतक : गरीब अभिभावकों के होनहार बच्चों के लिए बनाए गए नियम-134ए के तहत मनचाहे निजी स्कूलों में दाखिले का लाभ उनको नहीं मिल रहा है। रोहतक में अनेक नामी स्कूल ऐसे हैं जो इन बच्चों को टेस्ट पास करने के बाद भी दाखिला देने में आनाकानी कर रहे हैं। सारी औपचारिकताएं पूरी करने के बाद भी बच्चों को दाखिला नहीं दिए जाने से अभिभावकों में खासा रोष देखा जाने लगा है। इसी मुद्दे को लेकर सोमवार दोपहर बाद अनेक अभिभावक लघु सचिवालय पहुंचे और नारेबाजी की। अभिभावकों ने अधिकारियों से मिलकर दाखिले की गुहार लगाई है।

लघु सचिवालय में पहुंचे अभिभावकों का कहना है कि उनके बच्चों का दाखिला निजी स्कूल नहीं कर रहे हैं। कुछ स्कूल तो बच्चों के प्रमाण पत्रों की प्रतियां लेने के बाद भी दाखिला नहीं दे हे हैं। जबकि कुछ स्कूल ऐसे हैं जिन्होंने अभी तक बच्चों के प्रमाण पत्र तक भी जमा नहीं किए हैं। अभिभावक जब ऐसे निजी स्कूलों में बच्चों के दाखिले के लिए जाते हैं तो वे उनको दाखिला हो जाएगा, की बात कर हैं। दाखिला कब तक हो जाएगा। इसकी कोई सूचना अभिभावकों को नहीं दे रहे हैं। निजी स्कूलों के इसी रवैए के चलते अभिभावकों को अपने बच्चों का साल खराब होने का डर सताने लगा है। अभिभावक निजी स्कूलों पर मनमानी करने का अराेप लगा रहे हैं।

उनका कहना है कि जब कानून के तहत नियम-134ए बनाया गया है, और उसी के अनुसार बच्चाें ने टेस्ट पास भी किया हुआ है तो फिर निजी स्कूल अपनी मनमानी क्यों कर रहे हैं। ऐसे निजी स्कूलों में कानून का उल्लंघन कर रहे हैं, जिनके खिलाफ सरकार को सख्त कदम उठाना चाहिए। वहीं, इस मामले में अधिकारियों के हस्तक्षेप के बावजूद भी बच्चों के दाखिले नहीं हुए हैं। अधिकारियों और नेताओं के चक्कर लगा कर अभिभावक थक गए हैं। ऐसे में अभिभावक जल्द ही आंदोलन कर सकते हैं। अभिभावक इस संबंध में सोमवार को एसडीएम राकेश कुमार से मिले। जिसके बाद उन्होंने शिक्षा विभाग के अधिकारियाें से इस संबंध में जवाब मांगा।

--

नियम-134ए के तहत बच्चों ने टेस्ट पास किया हुआ है। लेकिन निजी स्कूलों में उनका दाखिला नहीं हो रहा है। जिससे अनेक अभिभावक स्कूलों व प्रशासनिक अधिकारियों के चक्कर लगा रहे हैं। संगठन की ओर से अभिभावकों की हर संभव मदद की जा रही है लेकिन अधिकारियों की ओर से अब तक भी कोई ठोस समाधान नहीं हुआ है। जिसके चलते अभिभावकों में रोष है।

- रोहताश सिंहमार, उपाध्यक्ष, दो जमा पांच मुद्दे जन आंदोलन, रोहतक ।

--

नियम-134ए के तहत अभी भी अनेक विद्यार्थियों के दाखिले निजी स्कूलों में नहीं होने पर विभाग की ओर से निजी स्कूलों को नोटिस दिए गए हैं। और उनसे तीन दिन में जवाब तलब किया गया है। 18 तक निजी स्कूलों से जवाब मांगा गया है। इस संबंध में आला अधिकारियों के जो भी निर्देश होंगे उनका पालन किया जाएगा।

- आशा दहिया, जिला उप शिक्षा अधिकारी, रोहतक ।

Edited By: Manoj Kumar