संवाद सहयोगी, नारनौंद : बास को नगरपालिका का दर्जा मिल चुका है। लेकिन अभी तक प्रशासन की तरफ से यहां पर सुविधाओं का काफी टोटा है। गांव में बिजली के पोल भी सही तरीके से दुरुस्त नहीं किए गए हैं। जिसके कारण आए दिन घटनाएं होती रहती हैं। बारिश के मौसम में बिजली के खंभों में करंट आ जाता है। जिसके कारण दुर्घटनाओं भय बना रहता है। बिजली के ट्रांसफार्मर के पोल में करंट होने की वजह से दो बेसहारा पशुओं की मौत हो गई। सुविधाओं के न होने के कारण ग्रामीणों में बिजली विभाग के प्रति रोष बना हुआ है। पिछले दो दिनों से हो रही बारिश के कारण बास के वार्ड आठ में लगे ट्रांसफार्मर में करंट आ गया। जिसके कारण दो बेसहारा पशुओं की मौत हो गई। पहले भी इस तरह की काफी घटनाएं घट चुकी है। लेकिन बिजली विभाग ने आज तक भी सबक लेकर इन बिजली के पालों को दुरुस्त नहीं किया है। इसको लेकर ग्रामीणों में रोष बना हुआ है और ग्रामीणों ने चेतावनी दी है कि जल्द ही बिजली के इस ट्रांसफार्मर को यहां से नहीं बदला गया तो वह सड़क जाम करके अपना विरोध प्रदर्शन करेंगे। ग्रामीणों ने इसकी शिकायत एसडीएम विकास यादव को भी दी है। एसडीएम ने तुरंत संज्ञान लेते हुए बिजली विभाग के अधिकारियों को आदेश दिए हैं कि जल्द इस ट्रांसफार्मर को यहां से बदला जाए सामाजिक कार्यकर्ता वीरेंद्र मोर ने अपने खर्च पर वहां से उनको उठाया और जेसीबी की सहायता से उनको दबाया गया। एसडीओ नरेश बुरा ने बताया कि ट्रांसफार्मर को बदलने के आदेश दे दिए गए हैं।

Edited By: Jagran