भिवानी, जेएनएन। प्रेमिका व उसकी दो बच्चियों की हत्‍या करने के मामले में धड़ से अलग किए दो शवों के सिर छह महीने बाद मिले हैं। लंबे समय तक खोदाई कर दो सिर मिले और तीसरे की अभी भी तलाश है। मगर हत्‍या कर सिर जमीन में दबाने की पीछे जो कहानी सामने आई है उसे सुन किसी के भी मुंह से दर्द की आह निकल जाएगी। हत्‍या करने वाले प्रेमी ने खुलासा किया है कि उसने सिर धड़ से अलग कर शव के टुकड़े किए थे, फिर उन्‍हें गैस से जलाया और उसके बाद बच्‍ची के शव को उबालकर कुत्‍ते को खिलाया था। इतनी घिनौनी तरीके से हत्‍या करने की बात सामने आती है चर्चा का विषय बनी हुई है।

बता दें कि शादी करने की बात कहने पर प्रेमी कबाड़ी ने अपनी प्रेमिका व उसकी दो मासूम बच्चियों की बावड़ी गेट स्थित प्लाट में पार्टनर व नौकर के साथ मिलकर हत्या कर डाली थी। कबाड़ी ने महज तीन व आठ साल की दो बच्चियों व उनकी मां की हत्या कर सिर धड़ से अलग कर दिए थे। पार्टनर व नौकर के साथ मिलकर तीनों के धड़ एक ड्रम में डाल कर शहर से 15 किलोमीटर दूर गांव खरक कलां के पास खेतों में फेंक दिए।

बाद में इन तीनों ने महिला व दोनों बच्चियों के सिर अलग स्थान पर करीब पांच किलोमीटर दूर कोंट रोड पर अपने गोदाम के पास एक जोहड़ की जमीन में दबा डाले थे। डीएसपी वीरेंद्र सिंह व सीआईए इंचार्ज कर्मवीर सिंह द्वारा तीन दिन तक सख्ती से की गई पूछताछ के बाद टूटे हत्या आरोपित राजेश की निशानदेही पर सोमवार को कोंट रोड से आखिरकार दो सिर बरामद कर लिए गए।

रोहतक रोड पर गांव खरक कलां के खेतों में 28 दिसंबर को एक प्लास्टिक के ड्रम में तीन शव मिले थे। सभी शव तेजधार हथियार से इस कदर काटे गए थे कि शुरुआती दौर में यह भी पता नहीं चल रहा था कि शव किसी महिला के हैं या पुरुष के। यह ट्रिपल मर्डर मिस्ट्री पुलिस के लिए चुनौती बनी हुई थी। चौंकाने वाली बात यह थी कि तीनों शवों के सिर धड़ से अलग थे। तीन दिन पहले सीआईए इंचार्ज कर्मवीर सिंह की एसआईटी टीम ने मुख्य आरोपित नया बाजार निवासी राजेश कबाड़ी को काबू कर पूछताछ शुरू की।

तीन दिन तक वह पुलिस को गुमराह करता रहा। रविवार रात को पुलिस की सख्ती के बाद हत्या आरोपित राजेश ने धड़ से सिर काट कर छिपाए जाने का पूरा राज पुलिस के सामने उगला। उसकी निशानदेही पर डयूटी मजिस्ट्रेट अजय कुमार, डीएसपी वीरेंद्र सिंह, सीन ऑफ क्राइम टीम की इंचार्ज सरोज, डॉ. दीपांशु, एसआई मुरारी, एसआई सुंदर सिंह, एचसी सलीन व अमित की टीम शहर से करीब पांच किलोमीटर दूर कोंट रोड पर राजेश के गोदाम पर पहुंची। सबसे पहले वहां पुलिस ने एक गद्दा बरामद किया, जिस पर लेटा कर तीनों की गर्दन काटकर सिर धड़ से अलग किए गए थे। इसके बाद गोदाम के पास ही एक जोहड़ की जमीन पर सिर तलाश किए। जमीन में दबाए गए सिर कुत्ते निकाल कर कीकरों के बीच ले गए थे। एक पूरी खोपड़ी व एक टूटी हुई खोपड़ी बरामद कर डीएनए टेस्ट के लिए पीजीआई रोहतक भेजी गई है।

'' पुलिस ने सबसे पहले मुख्य आरोपित राजेश के दो साथियों मध्यप्रदेश के दामोह निवासी मखन सिंह व पार्टनर भिवानी निवासी पूनम को गिरफ्तार किया। पूनम फौजी राजेश कबाड़ी का पार्टनर था और मखन सिंह दोनों का नौकर था। पूनम फौजी को 26 जनवरी और मखन ङ्क्षसह को 27 जनवरी को गिरफ्तार किया था। दोनों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस को मुख्य आरोपित राजेश व तीनों शवों के सिर मिलने की उम्मीद थी, लेकिन राजेश का काफी समय तक कोई सुराग नहीं लगा, जिसके चलते पुलिस ने उस पर दो लाख रुपए का इनाम रखा था। इसके बाद राजेश को 28 जून 2019 को भिवानी से गिरफ्तार कर लिया गया।

                                                                                                - गंगाराम पूनिया, एसपी, भिवानी।

Posted By: manoj kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस