बहादुरगढ़, जेएनएन। तीन कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे आंदोलन में टीकरी बार्डर पर बंगाल से आई 25 वर्षीय युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म के मामले में अभी जांच चल ही रही है और दूसरी तरफ पंजाब की एक युवती द्वारा इसी बार्डर पर खुद के साथ दुर्व्यवहार होने और बुरी नजर के साथ उसे तंग किए जाने के आरोपों का मामला गरम है। आज शुक्रवार को इसी मुद्दे पर संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक भी हो रही है। उसमें यह मसला उठेगा। वैसे तो यह मामला पिछले महीने की 29 तारीख से ही चर्चा में है क्योंकि संबंधित युवती ने किसी तरह की पुलिस को शिकायत देने की बजाय अपने इंस्टाग्राम अकाउंट के जरिये पूरे घटनाक्रम का विवरण डाला था।

उसमें युवती ने उसके साथ दुर्व्यवहार होने और उसे तंग करने का आरोप लगाया था, लेकिन युवती की ओर से कोई शिकायत न दिए जाने से यह मामला आगे नहीं बढ़ा। अब आंदोलन में ही शामिल कई संगठनों की ओर से इस पर जांच की पैरवी की जा रही है। इसलिए संयुक्त मोर्चा पर भी दबाव बढ़ गया है कि वह इस मामले की अपने स्तर पर जांच करवाएं और सच्चाई का पता लगाए। पुलिस तो तब तक इस मामले में कोई कदम नहीं उठा सकती जब तक कि उसके पास कोई लिखित शिकायत न आए, लेकिन युवती ने जाे आपबीती बयां की थी उसको देखते हुए यहां के संगठन ही संयुक्त मोर्चा से कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। एक दिन पहले इसी मामले पर एक वरिष्ठ अधिवक्ता की ओर से भी इंटरनेट मीडिया पर टिप्पणी की गई थी।

टीकरी बार्डर से एक संगठन ने तो बाकायदा संयुक्त मोर्चा को ईमेल भी कर रखी है। पंजाब की युवती ने टीकरी बार्डर पर फाइव रिवर्स हार्ट एसोसिएशन से जुड़े दो वालंटियर पर उसके साथ दुर्व्यवहार किए जाने का आरोप लगाया था। साथ ही युवती ने यह भी लिखा था कि एसोसिएशन के प्रमुख डा. सवाईमान सिंह को भी उन्होंने अपनी आपबीती बतानी चाहिए थी लेकिन उन्होंने गंभीरता नहीं दिखाई। जबकि डा. सवाईमान सिंह यह कह रहे हैं कि जैसे ही इस तरह के आरोपों के बारे में उन्हें पता लगा तो संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं को भी इस बारे में जानकारी दे दी थी।

उनका कहना है कि जिस तरह के आरोप लगाए जा रहे हैं ऐसा कुछ भी नहीं हुआ था। हजारों वालंटियर एसोसिएशन से जुड़ कर काम कर चुके हैं, इनमें लड़की भी रही हैं किसी को कोई परेशानी नहीं आई। अब अगर संयुक्त मोर्चा इस मामले में जांच करवा रहा है तो यह सही कदम है। इससे सच्चाई का पता भी लग जाएगा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप