हिसार, जेएनएन। राजगढ़ रोड पर रिलायंस पैट्रोल पंप के पास होटल मालिक की हत्या मामले में पुलिस ने तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इस मामले में मुख्यत: गांव जेबरा निवासी और हाल गंगवा निवासी रवि, गांव पातन निवासी काेहर सिंह और रतन सिंह को गिरफ्तार किया है। इनसे वारदात में इस्तेमाल कार और डंडा बरामद किया है। इससे पहले पुलिस इस मामले में आजार नगर निवासी अजीत और गोल्डन विहार कालोनी निवासी कर्मजीत को गिरफ्तार किया था। इन दोनों आरोपितों को अदालत में पेश कर जेल भेजा जा चुका है। गौरतलब है कि राजगढ़ रोड पर आरके रेस्ट्रोरेंट कम होटल पर 27 मार्च की देर शाम 6-7 युवकों ने खाने का बिल मांगने पर रेस्ट्रोरेंट संचालकों पर लोहे की रॉड, लाठियों से हमला कर दिया।

अचानक हुए इस हमले में गंभीर रूप से घायल हुए रेस्ट्राेरेंट संचालक शास्त्री नगर निवासी 50 वर्षीय रमेश की निजी अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई थी। हमले के बाद उनका शहर के निजी अस्पताल में उपचार चल रहा था। मामले में मृतक के भाई इंद्र सिंह के बयान पर हमलावरों पर हत्या, एससी-एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया था। हत्या मामले में मृतक रमेश के भाई जिंदल अस्पताल कैंपस निवासी इंद्र सिंह ने आजाद नगर थाना पुलिस को दी शिकायत में बताया था कि वह और शास्त्री नगर निवासी उसका भाई 50 वर्षीय रमेश राजगढ़ रोड पर रिलायंस पैटोल पंप के थोड़ा आगे एक रेस्ट्रोरेंट-होटल चलाते है।

27 मार्च की शाम 7.30 बजे वह, उसका भाई रमेश और कारिंदे होटल पर मौजूद थे। उस दौरान बोलेरो गाड़ी में सवार होकर 6-7 युवक वहां आए। उन युवकों ने रेस्ट्रोरेंट के अंदर आकर उनसे कहा कि उन्हें शराब पीनी है। इंद्र ने बताया कि उसने और भाई रमेश ने उन युवकों को शराब पिलाने से मना कर दिया। उस दौरान वे युवक उनके होटल से खाने-पीने का सामान लेकर अपनी गाड़ी में बैठकर शराब पीने लगे। उन युवकों ने उनके होटल से ही खाने पीने का और भी सामान मंगवाया। इंद्र ने बताया कि जब उसका भाई रमेश गाड़ी में बैठे युवकों से खाने का बिल मांगने गया तो हमलावरों ने रमेश को जातिसूचक शब्द कहते हुए गाली-गलौच की।

इंद्र ने बताया कि इसके बाद उन युवकों ने अपनी गाड़ी से लोहे की रॉड, बिंडे निकाले और उसके भाई रमेश पर हमला कर दिया। इंद्र ने बताया कि उसने बीच-बचाव किया तो वे युवक उससे भी मारपीट करने लगे। इंद्र ने बताया कि उस दौरान वह अपना बचाव करते हुए वहां से भाग गया। हमले के दौरान होटल में काम करने वाले कारिंदो को भी हल्की चोटे आई है। लेकिन उसका भाई रमेश गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे शहर के निजी अस्पताल में दाखिल करवाया गया था। जहां उपचार के दौरान रमेश ने दम तोड़ दिया।

इंद्र ने बताया कि झगड़े के दौरान हमला करने वाले अजीत और कर्मवीर को भी चोटें आई। इंद्र ने आरोप लगाया कि हमला करने वालों में अजीत और कर्मवीर के साथ धीरणवास निवासी कर्मबीर और काजल हेड़ी निवासी पवन बिश्नोई शामिल थे। हमलावर अपने साथियों सहित गाड़ी में बैठकर भाग गए। हमलावर जाते समय उन्हें जान से मारने की धमकी देकर गए है। वहीं इस झगड़े में घायल अजीत और कर्मचारी भी सिविल अस्पताल में दाखिल हुए थे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021