जागरण संवाददाता, फतेहाबाद : इस बार रबी सीजन की फसलों में नहरी पानी की किल्लत नहीं होगी। किसानों को पूरी सर्दी सुचारू रूप से पानी की सप्लाई मिलेगी। इस बार हुई मानसून की बढ़िया बारिश के चलते भाखड़ा बांध लबालब भर गया था। ऐसे में रूटीन के अनुसार ही महीने में दो सप्ताह नहरों में पानी बहेगा व दो सप्ताह ही बंद रहेगा। सिंचाई विभाग के अधिकारियों का कहना है कि इस बार पानी सप्लाई के नया शेड्यूल नहीं आया।

ऐसे में जो मानसून के सीजन में शेड्यूल आया था। उसी के अनुसार पानी की सप्लाई दी जाएगी। दरअसल, गत वर्ष दिसंबर में पानी की सप्लाई कम कर दी थी। भाखड़ा नंगल बांध में पानी कम होने का असर फतेहाबाद ब्रांच नहर पर पड़ा था। उस दौरान सरकार ने नहरों में पानी की सप्लाई 8 दिन देने के बाद 16 दिन नहरों में बंधी कर दी। इससे किसानों को बड़ी परेशानी आई। लेकिन इस बार ऐसा नहीं होगा।

जिले में नहरों व डिस्ट्रीब्यूटरी का जाल बिछा हुआ है। 3 नहर के साथ 30 से अधिक डिस्ट्रीब्यूटरी जिले के सवा 2 लाख 30 हजार हेक्टेयर में सिंचाई होती है। वहीं 140 के करीब गांवों में जलघर होने से पेयजल की सप्लाई भी नहरों से होती है। फतेहाबाद ब्रांच नहर से सिरसा के ऐलनाबाद क्षेत्र के साथ राजस्थान के नोहर व भादरा क्षेत्र में सिचाई होती है।

पहाड़ों में बर्फबारी से मिलेगी राहत

कई बार मानसून की अच्छी बारिश न होने से डैम में पानी कम रहता है। ऐसे में सर्दियों में होने वाली बर्फबारी से डैम में पानी आता है। इससे भी सिंचाई होती है। वैसे इस बार भी डैम में बर्फबारी का पानी आएगा। ऐसे में आगामी गर्मियों तक पानी की किल्लत इस बार तो नहीं होने वाली। सिंचाई विभाग के अधिकारियों का कहना है कि अप्रैल महीने के बाद ही तय होगा कि गर्मियों की सप्लाई कैसे होगी। फिलहाल तक किसी प्रकार की परेशानी नहीं है।

इस बार नहीं आएगी परेशानी : अधीक्षण अभियंता

इस बार नहरों में पानी की सप्लाई को लेकर किसी प्रकार का शेड्यूल में बदलाव नहीं आया। रबी सीजन में किसानों को पहले की तरह सप्लाई मिलती रहेगी। जिले की नहरों में पानी की सप्लाई 16 दिन की होगी। इसके बाद इतनी ही बंद रहेगी। ऐसे में इस बार किसानों को निर्धारित सप्लाई दी जाएगी।

- ओपी बिश्नोई, अधीक्षण अभियंता, सिचाई विभाग।

Edited By: Manoj Kumar