जागरण संवाददाता, सिरसा : सिरसा में एक अलग तरह का मामला सामने आया है। यहां चोरों के साथ ही बात उलटी पड़ गई। वीरवार रात को नशे में धुत दो युवक पुरानी तहसील रोड स्थित एक बड़ी सी कोठी में घुस गए। अरमान थे कि वहां मोटा माल हाथ लगेगा, लेकिन इसी दौरान कोठी के रसोइये ने उन्हें देख लिया, जिसके बाद एक युवक मौके से भाग निकला। जबकि एक युवक को काबू कर लिया। बाद में युवक को मालूम हुआ कि जिस कोठी में वह घुसा था वह डीएसपी ऐलनाबाद की है, अब युवक को पछतावा हो रहा है। आरोपित व उसके साथी के खिलाफ सिविल लाइन थाना में अभियोग दर्ज किया गया है।

जानकारी मुताबिक डीएसपी ऐलनाबाद जगत सिंह मोर की सरकारी कोठी पर रात करीब साढ़े आठ नौ बजे दो युवक दीवार फांद कर अंदर घुस गए। सुनसान रोड पर बंद कोठी को देखकर दोनों युवक दीवार फांद कर अंदर घुस गए। इसी दौरान रसोई के अंदर खाना बना रहे रसोइये दिलबाग सिंह निवासी प्रीतनगर ने जब आवाज सुनी तो वह बाहर आ गया। उसने देखा कि दो युवक अंदर घुसे हुए है, जब उसने आवाज लगाई तो एक युवक तो वापस दीवार फांद कर भाग गया जबकि दूसरे युवक को उसने काबू कर लिया। आरोपित युवक की पहचान भिवानी के खरककलां निवासी दीपक के रूप में हुई। आरोपित सिरसा जिले के गांव नुहियांवाली में विवाहित है। दिहाड़ी मजदूरी करता है। नशे की हालात में युवक कोठी में घुस गया।

इस मामले की जांच कर रहे बस अड्डा चौकी के एएसआइ रतन सिंह ने बताया कि आरोपित नशेड़ी प्रवृति का है और नशे की हालात में ही वह और उसका साथी कोठी में घुस गए। उसके दूसरे साथी के बारे में पूछताछ की जा रही है। आरोपित व उसके खिलाफ सिविल लाइन थाना में मामला दर्ज किया गया है।

 

Edited By: Manoj Kumar