सुभाष पंवार, सिवानी मंडी : गांव लीलस में पिछले दो दिनों से अपार खुशी का माहौल देखने को मिल रहा है। गांव लीलस के दामाद डा. एलआर बिश्नोई असम कैडर के आइपीएस अधिकारी हैं और अब उनको मेघालय का डीजीपी बनाया गया है। डाक्टर एलआर बिश्नोई मूल रुप से जिला फतेहाबाद के गांव चिदड के रहने वाले हैं। डीजीपी की नियुक्ति के बाद उनके ससुराल लीलस में लोग एक दूसरे को मिठाई खिलाकर खुशी का इजहार कर रहे हैं। फतेहाबाद जिला के गांव चिदड़ निवासी डा. एलआर बिश्नोई 1991 असम कैडर के आइएएस अधिकारी बने थे और अब उनको मेघालय का डीजीपी नियुक्त किया गया है । उनकी नियुक्ति का समाचार मिलने के बाद उनके ससुराल लीलस में खुशी का माहौल देखने को मिल रहा है ।

बता दें कि गांव लीलस पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय भजनलाल का ननिहाल भी है। मेघालय के डीजीपी बने डा. एलआर बिश्नोई गांव लीलस के बगड़ावत सिंह सीगड़ के दामाद हैं। इस बारे में उनके भानजे पवन बिश्नोई ने बताया कि जब से ग्रामीणों को, उनके परिवार के लोगों को उनके मामा एलआर बिश्नोई को मेघालय का डीजीपी बनाए जाने का समाचार मिला है तभी से गांव में अपार खुशी देखने को मिल रही है और लोग एक दूसरे को बधाई दे रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि उनको डाक्टर एलआर बिश्नोई पर गर्व है। ग्रामीणों का कहना है कि बिश्नोई एक ईमानदार और निर्भीक पुलिस अधिकारी हैं।

Edited By: Jagran