जागरण संवाददाता, हिसार : जीजेयू के अंडर आने वाले कालेजों में परीक्षाएं शुरू न होने के कारण विद्यार्थियों में रोष व्याप्त है। शुक्रवार दोपहर कॉलेजों के छात्र कुलपति से मिले और उन्हें ज्ञापन सौंपा। छात्रों ने कहा कि गुरु जम्भेश्वर विश्वविद्यालय प्रशासन बच्चों के भविष्य को लेकर उदासीन हो गया है। एबीवीपी की जीजेयू इकाई अध्यक्षा नित्या चुघ ने कहा कि पिछले दो महीनों से गुरु जम्भेश्वर विश्विद्यालय प्रशासन बच्चों के भविष्य के प्रति आंख मूंदकर बैठा है।

सभी विश्वविद्यालयों ने अपने यूजी कोर्सेज की परीक्षा ऑनलाइन या ऑफलाइन आयोजित करवा ली है या करवाने की तैयारी में है। जब कि गुरू जम्भेश्वर विश्वविद्यालय प्रशासन बार बार इन परीक्षाओं को टालने की कोशिश में लगा हुआ हैं। प्रशासन को बार बार बच्चों द्वारा परीक्षा आयोजित करने का अनुरोध करने पर भी उनके कान पर जूं तक नहीं रेंगी। इसकी जिम्मेवारी परीक्षा नियंत्रक विभाग की है इसलिए नैतिकता के आधार पर परीक्षा नियंत्रक यशपाल सिघला को तुरंत प्रभाव से अपने परीक्षा नियंत्रक पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के प्रतिनिधिमंडल ने कैम्प ऑफिस में कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान कुलपति ने 10 दिन में डेटशीट जारी करने का आश्वासन दिया है। एबीवीपी सचिव रितिक गुप्ता ने कहा कि यदि इसी तरह विश्वविद्यालय प्रशासन बच्चों के प्रति उदासीन बना रहा तो जल्द ही अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नेतृत्व में विद्यार्थी सड़को पर उतरकर आंदोलन करने को बाध्य होंगे। जिसके लिए जीजेयू प्रशासन व विशेषतौर पर परीक्षा नियंत्रक जिम्मेवार होंगे।

Edited By: Jagran