जागरण संवाददाता, हिसार: होमगार्ड भर्ती घोटाला मामले में राज्य मुख्य सूचना आयुक्त ने होमगार्ड विभाग के जिला कमांडेट और डीजीपी को सूचना के अधिकार के तहत 15 दिन में अपीलकर्ता को आरटीआइ का जवाब देने के आदेश दिए है। दरअसल मामले में हिसार से अधिवक्ता योगेश सिहाग ने हिसार के जिला कमांडेट से सूचना के अधिकार के तहत होमगार्ड भर्ती मामले में जानकारी मांगी थी। लेकिन कमाडेंट की तरफ से मिले आरटीआइ के जवाब में लिखा गया था कि थर्ड पार्टी को इस मामले में जवाब नहीं दिया जा सकता। इसके बाद योगेश सिहाग ने होमगार्ड डीजीपी कार्यालय में प्रथम अपीलकर्ता के तहत दोबारा होमगार्ड भर्ती मामले की जानकारी आरटीआइ के तहत मांगी। इसके बाद भी उचित जवाब नहीं मिला। बाद में योगेश सिहाग ने राज्य मुख्य सूचना आयुक्त को अपील डाली। जिसके बाद राज्य मुख्य सूचना आयुक्त विजय वर्धन की कोर्ट ने 15 दिन के अंदर होमगार्ड डीजीपी और जिला कमांडेट को होमगार्ड भर्ती मामले में आरटीआइ में जवाब देने के आदेश दिए है। अधिवक्ता योगेश सिहाग का आरोप है कि वर्ष 2021 में हटाए गए होमगार्ड को दोबारा लेने की बजाय, 39 नए होमगार्ड भर्ती किए गए थे। इस मामले में जवाब न देकर मामले को छुपाने की कोशिश की जा रही थी। इस कारण राज्य मुख्य सूचना आयुक्त को आदेश जारी करने पड़े।

Edited By: Jagran