जागरण संवाददाता, हिसार: सरसाना माइनर में शुक्रवार सुबह मृत मिले सेक्टर-15 निवासी अमित मोर की मौत के मामले में स्वजनों ने हत्या कर नहर में फेंकने का आरोप लगाया है। आजाद नगर पुलिस ने शनिवार को अग्रोहा मेडिकल कालेज में डाक्टरों के बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाकर शव स्वजनों को सौंप दिया। मृतक अमित के पिता सेक्टर-15 निवासी जसबीर ने आजाद नगर थाना पुलिस को शिकायत दी है। शिकायत में बताया कि वह पुलिस विभाग से रिटायर है। 19 मई की रात नौ के करीब वह और उसका बेटा अमित घर पर थे। अमित ने उससे कहा कि वह गाड़ी खड़ी करवाकर आ रहा है। उसके पास फोन आया है। उसका बेटा अमित स्कूटी लेकर चला गया। अमित जल्दी में टी-शर्ट और कैपरी में ही घर से निकल गया था, जाते समय जल्दी आने के बारे बोलकर गया था। जसबीर ने बताया कि इसके बाद वह सो गया था। रात के करीब दो बजे शौच के लिए उठा तो देखा की अमित अपने कमरे में नही था। वह अमित के आने का इंतजार करता रहा। लेकिन अगली सुबह तक भी अमित घर नहीं आया। 20 मई को उसके दूसरे बेटे संदीप ने उसे फोन पर बताया की अमित का शव सरसाना माइनर के अंदर पड़ा मिला है। इसके बाद वह नागरिक अस्पताल में पहुंचे। जहां उसे पुलिस मिली। वहां उसने मोर्चरी में रखे शव को देखा तो शव उसके बेटे अमित का था। जसबीर ने शक जताया कि किसी अज्ञात ने उनके बेटे अमित को नहर में डुबोकर मारा है। नहर के पास से उसके बेटे की स्कूटी, मोबाइल बरामद नहीं हुआ। पुलिस ने शिकायत पर हत्या सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज कर लिया है। हालांकि अमित के शरीर पर चोट का कोई निशान नहीं मिला है। गौरतलब है कि शुक्रवार सुबह सरसाना माइनर में करीब 40 वर्षीय युवक का शव मिला था। पुलिस ने शव को नागरिक अस्पताल की मोर्चरी में भिजवाया था। जिसके बाद पुलिस ने स्वजनों का पता लगाकर उन्हें सूचना दी थी।

Edited By: Jagran