जागरण संवाददाता, हिसार

फ्यूचर मेकर लाइफ केयर प्राइवेट लिमिटेड (एफएलएलसी) के एमडी बंसीलाल को तेलंगाना पुलिस ने आखिरकार प्रोडक्शन वारंट पर लेकर गिरफ्तार कर लिया। आम आदमी से धोखाधड़ी करने का खुलासा भी तेलंगाना पुलिस ने किया था। जांच में सामने आया था फ्यूचर मेकर कंपनी के मालिकों ने करीब तीन हजार करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की है। अब तेलंगाना पुलिस बंसीलाल से पूछताछ करेगी।

तेलंगाना पुलिस को 20 जुलाई 2018 को एक शिकायत मिली थी। शिकायत पर कार्रवाई करते हुए जांच शुरू हुई और तेलंगाना पुलिस ने सितंबर माह में हिसार के रेड स्क्वेयर मार्केट स्थित कार्यालय को सील कर दिया था। उस दौरान फतेहाबाद के एक व्यक्ति की शिकायत पर सिटी थाना में मामला भी दर्ज किया गया था। तेलंगाना पुलिस उस समय सीएमडी राधेश्याम को गिरफ्तार कर ले गई थी और बाद में कई लोगों को गिरफ्तार किया गया था। पुलिस की तरफ से उसके बाद से बंसीलाल फरार चल रहा था लेकिन पिछले दिनों परिवार के लोगों की गिरफ्तारी होने पर बंसीलाल ने फतेहाबाद पुलिस के समक्ष गिरफ्तारी दे थी। उसके बाद कई दिन रिमांड पर बंसीलाल रहे और अब तेलंगाना पुलिस उसको कोर्ट से प्रोडक्शन वारंट पर अपने राज्य ले गई है।

तेलंगाना के साइबराबाद पुलिस की तरफ से स्पेशल कोर्ट में बंसीलाल को पेश किया है।

--------

यह है मामला

हिसार के सिटी थाना में में भी 9 सितंबर 2018 को फतेहाबाद के किरढाना निवासी सतबीर ने सीएमडी राधेश्याम, एमडी बंसीलाल के खिलाफ मामला दर्ज करवाया था। सतबीर ने कहा था कि 12 फरवरी 2015 को फ्यूचर मेकर में ज्वाइन किया था। वह कंपनी के पहले डिस्ट्रीब्यूटर बने थे। सीएमडी और एमडी सहित अन्य लोगों ने प्रोडक्ट का प्रचार करने के लिए ज्वाइन करवाया था। लोगों से पैसा एकत्रित कर कंपनी ने दस हजार करोड़ रुपये तक एकत्रित कर लिए थे। वह विदेश भागने की फिराक में थे। सतबीर ने कहा था कि उसकी टीम ने चार हजार करोड़ रुपये जमा करवाए थे। उसने कंपनी से 28 करोड़ लेने थे जब वह लेने गया तो उसको धमकी मिली थी। वहीं इससे पहले तेलंगाना पुलिस को 20 जुलाई 2018 को शिकायत मिली और मामला दर्ज किया था।

-----------

ऐसे चलता था धंधा

कंपनी की तरफ से एक व्यक्ति को सदस्य बनाने के नाम पर साढ़े सात से नौ हजार रुपये लिए जाते थे। उसको इसके लिए सूट और अन्य प्रोडक्ट दिए जाते। सदस्य बनाने के लिए व्यक्ति को हर माह इनकम आने का लालच दिया जाता। लोग उसी लालच में कंपनी ज्वाइन करते और अपना पैसा फंसा लेते थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस