जागरण संवाददाता, सिरसा/हिसार: फर्जी फर्म बनाकर वर्ष 2010 से 2015 के बीच करोड़ों रुपये का टैक्स रिफंड करवाने के मामले में जांच कर रही विजिलेंस टीम ने आरोपित विशाल निवासी चत्तरगढ़पट्टी को गिरफ्तार किया है। आरोपित युवक ने विजिलेंस को बताया कि वह आरोपित पदम बंसल के यहां नौकरी करता था। उसने जीवन बीमा करवाने के लिए अपने दस्तावेज आरोपितों को दिये थे, जिनके आधार पर आरोपितों ने उसके नाम से फर्जी फर्म बना दी और करोड़ों रुपये का व्यापार किया। आरोपित विशाल अब सरकारी गवाह बनने को तैयार है। वहीं आरोपित पदम बंसल के बेटे अमित बंसल का रिमांड पूरा हो चुका है।

आरोपित से कुछ महत्वपूर्ण सुराग व सबूत मिले हैं। आरोपित अमित से पूछताछ में 12 फर्जी फर्मों का रिकार्ड मिला है जिनसे वैट रिटर्न के नाम पर डेढ़ करोड़ रुपये लिये हैं और करीब पांच छह करोड़ के रिटर्न अभी शेष है। आरोपित अमित बंसल को जेल में भेजने के बाद पुलिस उके पिता पदम बंसल की गिरफ्तारी की तैयारियेां में लगी हुई है। उसके छिपने के संभावित ठिकानों पर दबिश दी जा रही है। टीम ने राजस्थान के जोधपुर एरिया में भी दबिश दी है परंतु अभी तक कोई खास उपलब्धि हाथ नहीं लगी है।

-----

फर्जी फर्मों से लेन देन के मामले में आरोपित विशाल को पकड़ा है। उसने बताया कि आरोपित पदम बंसल, अमित बंसल ने उसके दस्तावेजों के आधार पर फर्जी फर्म बनाई। इस मामले में आरोपित अमित का रिमांड पूरा होने के बाद उसे जेल भेज दिया गया। अमित ने पूछताछ में 12-13 फर्जी फर्में बनाकर करीब पांच छह करोड़ का टैक्स रिफंड लेना स्वीकार किया है। आरोपित अमित के पिता पदम बंसल की तलाश में दबिश दी जा रही है। - गौरव शर्मा, डीएसपी, स्टेट, विजिलेंस, हिसार

Edited By: Manoj Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट