जागरण संवाददाता, बहादुरगढ़: सावन की झड़ी लगी हुई है। तीन दिन से क्षेत्र में बरसात हो रही है। बारिश व तूफान से तीन कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों को काफी नुकसान हुआ है। उनके तंबू कई बार उखड़ चुके हैं। बहादुरगढ़ बाईपास की आटो मार्केट में चलने वाली भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहा की सभा का तंबू तीन-चार बार फट गया था। ऐसे में अब यूनियन ने पक्का टेंट यहां पर लगाया है।

वहीं बारिश से किसानों व उनकी खाद्य सामग्री को बचाने के लिए फाइल रिवर्स एसोसिएशन की ओर से पूरे आंदोलन स्थल पर तिरपाल बांटे जा रहे हैं। आंदोलनकारियों को उनकी जरूरत के अनुसार तिरपाल दिए जा रहे हैं। एसोसिएशन की ओर से भारी मात्रा में तिरपाल मंगवाए गए हैं ताकि बारिश के इस मौसम में उसे अपने तंबू पर लगाकर किसान भीगने से बचे रहे और अपनी खाद्य सामग्री को भी खराब होने से बचा सकें। एसोसिएशन की ओर से डा. स्वाईमान सिंह इस काम का जिम्मा संभाले हुए हैं। वे आंदोलन में काफी समय से सक्रिय हैं।

यहां पर वे मेडिकल कैंप भी चला रहे हैं। यहां पर उनकी ओर से कोरोना से बचाने के लिए किसानों का वैक्सीनेशन कार्यक्रम भी चालू कर रखा है। आइसोलेशन सेंटर भी बनाए गए हैं। ये छोटे-छोटे तंबुओं में बनाए गए हैं। एसोसिएशन की ओर से तंबू भी बनवाए जा रहे हैं। बांस-बल्ली के अलावा लोहे के एंगल से एक कमरे के निर्धारित साइज के ये तंबू अब तक एक हजार से ज्यादा तैयार किए जा चुके हैं। इसके लिए भारी मात्रा में मेटीरियल मंगवाया गया है। बहादुरगढ़ बाईपास पर बने नए बस स्टैंड पर पिंड कैलिफोर्निया के नाम से फाइव रिवर्स एसोसिएशन ने डेरा डाला हुआ है।

Edited By: Manoj Kumar