सिरसा/हिसार, जेएनएन। चीन व साथ लगते देशों में कोरोना वायरस का प्रकोप फैला है। वहीं दिल्‍ली में स्‍वाइन फ्लू के 100 से भी ज्‍यादा केस सामने आ चुके हैं। सर्दी के मौसम में हुई बारिश से आपकी सेहत भी बिगड़ सकती है। मौसम तेजी से बदल रहा है। दोपहर के समय गर्मी लगने लगती है तो सुबह-शाम ठंड रहती है। ऐसे में सर्दी जुकाम होने की संभावना ज्यादा है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की मानें तो ऐसे मौसम में विशेष सावधानी बरतने की आवश्यकता है।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक स्वाइन फ्लू का वायरस म्यूटेट कर रहा है यानि बदल रहा है। जो घातक साबित हो सकता है। हालांकि अभी हरियाणा के किसी जिले में स्वाइन फ्लू के कोई मामले सामने नही आए हैं। मगर विभाग सतर्कता बरत रहा है और बहुत से सामान्‍य अस्‍पतालों में स्वाइन फ्लू से निपटने के लिए आइसोलेशन वार्ड भी बनाया गया है। दिल्‍ली की सीमा हरियाणा से सटी होने के चलते संभावना है कि मौसम की तब्‍दीली के साथ बीमारी के वायरस सक्रिय हो जाएं। इसलिए खाने से लेकर साफ सफाई का विशेष ध्‍यान रखने की जरूरत है। हल्‍की सी लापरवाही बड़ी गलती साबित हो सकती है।

15 से 20 दिन तक तक जुकाम, बुखार है तो अपनी जांच अवश्य करवाएं

- इम्युनिटी बनाए रखने के लिए योगाभ्यास अवश्य करें।

- वातावरण में प्रदूषण ज्यादा है, सांस उठने की समस्या हो सकती है, इसलिए भांप अवश्य लें।

- सुबह घर से खाना खाकर चलें, खाली पेट न निकले।

- अपने आप दवाइयां न लें, विशेषज्ञ चिकित्सक की सलाह पर ही लें। एंटी बायटिक दवाइयां भी शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता घटाती है।

 

----मौसम बदल रहा है। सुबह-शाम ठंड है और दोपहर में गर्मी। ऐसे में सर्दी जुकाम के ज्यादा केस सामने आ रहे है। विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। स्वाइन फ्लू का वायरस म्यूटेट हुआ है, जो शरीर पर प्रभाव डाल सकता है।

- डा. सुरेंद्र नैन, सिविल सर्जन, सिरसा

Posted By: Manoj Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस