मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

फतेहाबाद, जेएनएन। दुनिया को अलविदा कहने वाली भाजपा नेत्री सुषमा स्‍वराज के लिए हर आंख नम है। मगर उनके लिए आंसुओं का सैलाब यूं ही नहीं बह रहा बल्कि दयालुता पूर्वक छवि का चर्चा हर किसी की जुबान पर है। जिसने भी मदद मांगी उन्‍होंने अपना हाथ आगे बढाया। इन्‍हीं किस्‍सों में से एक हरियाणा के फतेहाबाद का भी है। जब हरियाणा के युवक से शादी करने वाली कजाकिस्‍तान की युवती को वीजा विवाद के कारण वापस अपने मायके यानि देश लौटना पडा तो उनके पति ने सुषमा स्‍वराज को एक ट्वीट किया था। इस पर संज्ञान लेते हुए सुषमा स्‍वराज ने ट्वीट किया और इसके बाद ये मामला सुर्खियों में आ गया। सुषमा स्‍वराज के हरियाणा के अंबाला में ही जन्‍म हुआ था और उनका पालन पोषण भी फरीदाबाद के पलवल में नाना नानी के पास ज्‍यादा हुआ था, हरियाणा से उनका विशेष लगाव रहा।

फेसबुक पर दोस्ती के बाद हुई थी टीनू और कजाकिस्तान की झाना की शादी
फतेहाबाद के गांव समैन के टीनू जांगड़ा और कजाकिस्तान की झाना चलायबेविया के बीच फेसबुक पर दोस्ती हुई। इसके बाद दोनों में प्‍यार हो गया। इसके बाद झाना अपना देश छोड़कर हरियाणा के समैन आ गई। उसके बाद दोनों ने 4 जून 2016 को हिंदू रीति-रिवाज से शादी रचा ली। दोनों ने कोर्ट मैरिज भी की। झाना 1 दिसंबर 2016 तक यहां रही और उसके बाद अपने देश लौट गई। झाना के पास तीन महीने का ही वीजा था, इसलिए उसे वापस लौटना पडा था। इससे पहले झाना की वीजा अवधि न बढऩे की भी खूब चर्चाएं रही। तब विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने स्वयं ट्वीट कर टीनू व झाना को दिल्ली बुलाया और झाना की वीजा अवधि बढ़ाने की प्रक्रिया शुरू कराई थी।

यह भी पढ़ें: दिल्‍ली की CM बनने पर सुषमा ने ऐसे ऊंचा किया हरियाणा का सिर, जानें पूरा वाक्‍या

जब युवती सुषमा जी कि हस्‍तक्षेप के बाद भारत लौटी तो युवती ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से भी मुलाकात की। उसका पति टीनू जांगडा़ भी उसके साथ था। दिल्ली में विदेश मंत्री से मुलाकात कर उन्होंने खुलकर बातें कीं। कुछ परेशानियां बताई तो कुछ संस्कृति से जुड़े अनुभवों पर चर्चा हुई। इस दौरान विदेशमंत्री ने भी उन्हें हर प्रकार की सहायता का आश्वासन भी दिया। समैन वासी टीनू ने बताया कि उन्हें विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की तरफ से ही मिलने का निमंत्रण मिला था। हालांकि वीजा अवधि नहीं बढ़ पाई थी और पति से पारिवारिक विवाद के बाद युवती अपने देश लौट गई थी, मगर सुषमा स्‍वराज ने अपनी तरफ से युवती की मदद करने में कोई कसर नहीं छोडी थी।

यह भी पढ़ें: हरियाणा की सुषमा महज 25 साल की उम्र में बनीं थीं मंत्री, कभी नहीं भूल पाएंगे

सुषमा स्‍वराज को पत्र लिख की थी शिकायत
भारत लौटने के बाद झाना का पति से विवाद रहने लगा। 2018 में झाना ने सुषमा स्‍वराज के लिए विदेश मंत्रालय को भेजे पत्र में लिखा कि वर्ष 2016 में पति टीनू व उसके परिवार ने उससे उसकी मां द्वारा दिए गए पैसे छीनने के लिए जान से मारने की कोशिश की। टीनू के माता-पिता ने उसे कमरे में बंद कर दिया और पीटा भी। बाद में उसने खिड़की का शीशा तोड़कर गली से गुजर रहे व्यक्ति को बुलाकर कमरे का दरवाजा खुलवाया था। इसके बाद उसने पड़ोसियों के घर जाकर शरण ली। इस मामले की शिकायत दर्ज करवाने के लिए वह टीनू को टोहाना सदर थाने में भी ले गई, लेकिन तत्कालीन थाना प्रभारी ने कोई कार्रवाई नहीं की। झाना ने गुहार लगाई  कि वर्ष 2016 में सेवा दे चुके टोहाना सदर थाना प्रभारी के खिलाफ सख्त कारवाई की जाए। इसके बाद झाना हमेशा के लिए कजाकिस्‍तान लौट गई।

टीनू जांगड़ा के साथ शादी के बाद झाना चलायबेविया की तस्‍वीर।

सुषमा स्‍वराज का किया था धन्‍यवाद
झाना ने शिकायत पत्र में यह भी लिखा कि टीनू ने उसकी निजी जिंदगी से जुड़ी फोटो को सोशल मीडिया पर शेयर किया, जिसको बहुत से लोगों ने आगे शेयर किया व उस पर गलत कॉमेंट किए। शिकायत में टोहाना के एक मीडियाकर्मी पर भी सवाल उठाए हैं। झाना के अनुसार उक्त मीडियाकर्मी ने वर्ष 2017 में उसके बारे में चिढ़ाने वाली बातें लिखीं। झाना ने कहा कि जिस तरह से सुषमा स्‍वराज ने मुझे कजाकिस्‍तान से हिंदुस्‍तान लौटने के लिए मदद की उसके लिए दिल से शुक्रिया मगर अब मुझे कजाकिस्‍तान जाने के लिए मदद करें।

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: manoj kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप