हिसार, जेएनएन। भाजपा नेत्री सोनाली फौगाट और मार्केट कमेटी सचिव सुल्तान सिंह के बीच हुए थप्पड़-चप्पल मामले में बुधवार को सुनवाई हुई। इसमें कोर्ट ने सुल्‍तान सिंह के वकील पक्ष की और से सोनाली की जमानत खारिज करने की याचिका पर संज्ञान लिया। कोर्ट ने सोनाली पक्ष के वकील से इस पर जवाब मांगा है। यह जवाब 3 जुलाई तक देना होगा। इसके बाद ही आरोप तय करने पर सुनवाई होगी।

सुल्तान सिंह ने सोनाली पर मारपीट और ड्यूटी में बाधा डालने का मामला दर्ज करवाया हुआ है। उसमें पुलिस ने सोनाली सहित छह आरोपितों को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया था, जहां से उन्हें बेल मिल गई थी। इसके बाद सुल्‍तान सिंह पक्ष की ओर से सोनाली फौगाट की जमानत रद करने की याचिका लगाई गई थी। जिसमें आरोप लगाया गया था कि सोनाली द्वारा गवाहों पर दबाव बनाया जा रहा है और डराया धमकाया जा रहा है।

इस मामले में कोर्ट ने आज सुनवाई की है। अब पहले सोनाली पक्ष की ओर से जवाब दिया जाएगा और फिर सोनाली पर किन धाराओं के तहत केस चलेगा, इस पर बहस होगी। साथ ही सोनाली फौगाट को मिली बेल को रद करवाने के लिए दी गई एप्लीकेशन पर भी सुनवाई होगी। इस एप्लीकेशन में शिकायतकर्ता सुल्तान सिंह के वकील ने सीडी भी साथ देकर कहा था कि सोनाली ने वीडियो में गलत बोला है।

बता दें कि सोनाली और मार्केट कमेटी सचिवत सुल्तान सिंह के बीच बालसमंद मंडी में विवाद हो गया था। विवाद होने पर सोनाली ने सुल्तान सिंह पर छेड़छाड़ के आरोप लगाते हुए मामला दर्ज करवाया है। सोनाली ने बालसमंद मंडी में सुल्तान सिंह को थप्पड़ और चप्पल से पीटा भी था। उसका वीडियो वायरल होने के बाद सुल्तान सिंह ने सोनाली पर ड्यूटी में बाधा डालने के साथ पीटने के आरोप लगाते हुए मामला दर्ज करवाया था। अदालत ने चार्ज फ्रेम करने के लिए एक जुलाई की तिथि लगाई थी। जिस पर आज सुनवाई हुई।

बेल एप्लीकेशन रद करने की है मांग

सुल्तान सिंह के वकील ने पिछले दिनों एसीजेएम की अदालत में एप्लीकेशन दी थी। उसके साथ एक सीडी देते हुए सुल्तान सिंह के वकील महेंद्र सिंह नैन ने कहा था कि सोनाली ने सोशल मीडिया पर ऑनलाइन होते हुए गवाहों को डराने का प्रयास करने की बात कही थी।

गौरतलब है कि सोनाली और सुल्‍तान के बीच यह विवाद बीते कई दिनों से प्रदेशभर में छाया हुआ है। बड़े से बड़े मीडिया प्‍लेटफार्म पर भी इस मामले का चर्चा है। टिक टॉक स्‍टार सोनाली फौगाट विधानसभा चुनावों में जितनी सुर्खियों में आदमपुर से बीजेपी की टिकट मिलने पर आई थी। उससे कहीं ज्‍यादा इस विवाद के कारण सुर्खियों में आ गई। आदमपुर सीट पर कांग्रेस विधायक कुलदीप बिश्‍नोई और कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने भी इस प्रकरण में सोनाली फौगाट पर जमकर निशाना साधा। मामला महिला आयोग तक पहुंचा और महिला आयोग ने सोनाली को सही ठहराया। विरोध होने पर सुल्‍तान सिंह को भी पक्ष रखने के लिए बुलाया।

इसके बाद सोनाली फौगाट के विरोध में सुल्‍तान सिंह बीनैन खाप के शरण में भी गए तो सोनाली फौगाट ने भी फौगाट खाप से संपर्क साधा था। सोनाली फौगाट इस बीच कई बार सोशल मीडिया पर लाइव आईं और माफी नहीं मांगने की बात कही। लोगो को बढ़ते विरोध और आवेश में आकर कहे गए शब्‍दों को लेकर उन्‍होंने बीते एक सप्‍ताह पहले सोनाली ने ये जरूर कहा कि मुझे कानून हाथ में नहीं लेना चाहिए था। वहीं मैनें जो शब्‍द आवेश में आकर महिलाओं के लिए कहे हैं उनके लिए भी मैं माफी मांगती हूं। मगर इस मामले में मुझे सजा देने का काम कानून करेगा। मैं अभी भी कोर्ट की प्रकिया के तहत इस मामले का निपटारा चाहती हूं।

Posted By: Manoj Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस