हिसार, जेएनएन। पहाड़ों पर होने वाली बर्फबारी हरियाणा के कई जिलों में सर्दी बढऩे का कारण बनेगी। मौसम विशेषज्ञों ने 11 दिसंबर से तापमान में बदलाव होने की संभावना जताई है। 12 व 13 दिसंबर को बादलवाई आ सकती है, वहीं गरज-चमक के साथ कई क्षेत्रों में बूंदाबांदी होने की संभावना है। मौसम के इस बदलाव में हवाओं का भी अहम रोल है। सोमवार की सुबह भी ठंड ज्‍यादा रही तो वहीं भिवानी और कुछ जिलों में अलसुबह धुंध भी छाई।

पहाड़ों की तरफ से आने वाली ठंडी हवाएं मैदानी इलाकों में पहुंचकर ठंड बढ़ाएंगी। इसमें हरियाणा ही नहीं बल्कि पंजाब के कई क्षेत्र व दिल्ली तक असर देखने को मिलेगा। चौ. चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के कृषि मौसम विभाग के अनुसार मौसम वैज्ञानिक डा. मदन खिचड़ ने बताया कि अगले तीन से चार दिनों तक रात्रि तापमान में गिरावट दर्ज की जा सकती है। वहीं सुबह के समय धुंध भी देखने को मिलेगी।

बता दें कि बदलने वाले मौसम में हल्‍की सी लापरवाही आपकी सेहत पर भारी पड़ सकती है। सर्दी बढ़ने पर गर्म खाद्य पदार्थ का सेवन करें तो वहीं गर्म कपड़े नहीं पहनने पर आप बीमार हो सकते हैं। हालांकि इन सामान्‍यत बातों का हमें पता होते हुए भी हम कई बार सर्दी को हल्‍के में ले लेते हैं और ठंड के कारण बीमार पड़ जाते हैं।

बारिश और धुंध फसलों को देगी फायदा

वहीं बारिश और धुंध दोनों ही फसलों के लिए फायदेमंद साबित होंगी। मौसम वैज्ञानिकों की किसानों के लिए सलाह है कि सिंचाई मौसम के अनुरूप ही करें। जहां शनिवार को फतेहाबाद प्रदेश का सबसे ठंडा शहर रहा। यहां का न्यूनतम तापमान छह डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है, जोकि सामान्य से 3 डिग्री कम था तो रविवार को करनाल में सबसे कम 6.2 डिग्री सेल्सियस न्यूनतम तापमान रहा।

प्रदेश में रविवार को यह रहा तापमान

जिला- अधिकतम न्यूनतम

हिसार- 23.4- 7.1

कुरुक्षेत्र- 24.5- 7

अंबाला- 23.9- 7.2

करनाल- 24.5- 6.2

सिरसा- 22.4- 7.4

भिवानी- 23.5- 7.5

रोहतक- 22- 7.8

चंडीगढ़- 25- 8.4

फरीदाबाद- 25- 9

गुरुग्राम- 24.5- 8.8

फतेहाबाद- 22-  9

झज्जर- 23  - 10

नोट- तापमान डिग्री सेल्सियस में हैं।

Posted By: Manoj Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस