मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

फतेहाबाद, जेएनएन। न्‍यू मोटर व्‍हीकल एक्‍ट लागू होने के बाद कई राज्‍यों में भारी भरकम चालान काटे जा रहे हैं। मगर हरियाणा में पुलिस ने तीन दिन तक चालान न करके लोगों को नियमों की प्रति जागरुक करने की एक अलग ही मुहिम छेड़ी है। मगर इसी बीच फतेहाबाद जिले में एक अलग ही नजारा देखने को मिला। वाहन चालकों को नए ट्रैफिक नियमों के प्रति जागरूक करने के दौरान जब सदर थाना एसएचओ ने एक बाइक पर चाल लाेगों को बैठे देखा तो उनका चालान करने की बजाय फूल दिया। फिर हाथ जोड़कर खड़े हो गए और कहा कि भाई साहब कुछ तो शर्म करो।

दोबारा ऐसे मिले तो चालान कर दिया जाएगा। अभियान के तहत फतेहाबाद शहर में नवनियुक्त डीएसपी गीतिका जाखड़ व दलजीत बेनीवाल ने लालबत्ती चौक पर पहुंचे। यहां पर अनेक लोग बिना हेलमेट पहने आए। जिसमें सबसे ज्यादा तादाद लड़कियों की रही। डीएसपी ने लड़कियों व महिलाओं को फूल देकर कहा कि नियम हमारे लिए बने है।

 सदर थाना प्रभारी प्रहलाद सिंह हाईवे के पास अभियान चला रखा था। इस दौरान एक बाइक पर चार सवारियों बैठी थी। वहां पर मौजूद पुलिस कर्मचारी भी हैरान रह गए। जब बाइक चालक को रोका तो वह घबरा गया। सदर थाना प्रभारी वाहन चालक हाथ जोड़कर खड़े हो गए। व्यक्ति से अपील की कि वे अपने परिवार की जिंदगी के साथ खिलवाड़ तो ना करे। एक पुलिस कर्मचारी द्वारा उसके सामने हाथ जोडऩे के बाद वाहन चालक भी शर्मा गया। उसने इसके लिए माफी मांगी और बाद में महिला व बच्चों को दूसरे वाहन में बैठा दिया।

हाथ जोड़ यातायात नियमों की प्रति जागरुक करते हुए एचएचओ

ट्रैफिक पुलिस ने भी चलाया अभियान

जिला ट्रैफिक पुलिस इंचार्ज रामधन, एएसआई हेतराम, एसआई दयानंद आदि ने भी अभियान चलाया। उन्होंने बताया कि आने वाली 15 सितंबर तक वे एक भी चालान नहीं कर रहे है। वे वाहन चालकों को समय दे रहे है कि वे अपने कागजात पूरे कर ले। अगर उसके बाद भी उन्होंने नियमों की अनदेखी की तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। वहीं रतिया में डीएसपी धर्मवीर पूनिया ने अभियान चलाया।

नियम                                      पहले        अब

सीट बेल्ट                                 100        1000

तीन सवार                                100        1000

हेलमेट                                     200        1000 व तीन माह के लिए लाइसेंस निलंबित

एंबुलेंस को रास्ता न देना                00        10000

बिना लाइसेंस                             500        5000

लाइसेंस रद्द होने के बाद ड्राइविंग   500       10000

ओवरस्पीड                                500        1000 लाइट व्हीकल, 2000

 हेवी व्हीकल खतरनाक ड्राइविंग   1000       5000

शराब पीकर ड्राइविंग                  2000        10000

मोबाइल यूज                             1000        5000

बिना परमिट वाहन                      5000        10000

गाड़ी ओवरलोड सवारी वाहन          00        1000 रुपये प्रति अतिरिक्त यात्री

गाड़ी ओवरलोड माल वाहन           2000    उसके बाद प्रति टन एक हजार, 2000 प्रति टन दो हजार

बिना बीमा                                1000        2000

नाबालिग ड्राइविंग                      1000        25 हजार

Posted By: Manoj Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप