जागरण संवाददाता, भिवानी : गांव मिताथल और घुसकानी में मंदबुद्धि युवक का काला मुंह कर गले में जूतों की माला पहनाकर दोनों गांवों में घूमाए जान का वीडियो वायरल होने पर बवाल मचा हुआ है। युवक को एक गांव से दूसरे गांव तक जुलूस निकाल घूमाया गया। युवक के फोटो फेसबुक पर भी वायरल किए गए। वीरवार को यह मामला पुलिस के संज्ञान में आने पर पुलिस में भगदड़ मच गई।

एसपी अजीत सिंह शेखावत ने इस पर गंभीरता से तुरंत प्रभाव से संज्ञान लेकर सदर थाना प्रभारी को कार्रवाई के आदेश दिए। आदेश मिलते ही थाना प्रभारी विद्यानंद ने टीम के साथ दोनों गांवों के सरपंच से मिलकर मामले की जांच को आगे बढ़ाया। पुलिस ने पीड़ित परिवार के पास पहुंच कर उनकी सुनवाई की। मामला 15 से 20 दिन पुराना है, मगर अब पुलिस ने मामले की जांच में जुटी है।

गांव घुसकानी निवासी अनुसूचित जाति के एक युवक पर मिताथल की महिलाओं ने कथित तौर पर छेड़छाड़ का आरोप लगाया। मामला करीब 15 दिन पहले का है। जिसकी शिकायत गुजरानी पुलिस चौकी को दी गई थी, लेकिन पुलिस ने शुरूआत में इसे हलके में लेकर दोनों पक्षों को बातचीत का समय देकर मामले को रफादफा कर दिया था।

अब इस घटना की वीडियो व फोटो सोशल मीडिया पर वायरल होने पर मामला गंभीर हो गया है। गांव घुसकानी के एक युवक पर गांव मिताथल की महिलाओं ने उनके सामने खेत में शौच कर अश्लील हरकत करने का आरोप लगाय था। इस पर युवक का काला मुंह कर व जूतों की माला पहना कर गांव घुसकानी व मिताथल में घूमाकर मानवता को शर्मशार किया। युवक को जुलूस के रूप में घूमाते हुए गांव मिताथल से घुसकानी तक ले जाया गया। सदर थाना प्रभानी ने कहा कि पुलिस ने दोनों पक्षों के बयान दर्ज किए है। पुलिस इस मामले में उचित कार्रवाई करने में लगी है।

पूरे घटनाक्रम की वीडियो बना कर सोशल मीडिया पर डाली :

घटना के बाद एक युवक ने अपनी फेसबुक आईडी पर पोस्ट डाल दिया। जिसके बाद यह घटना उजागर हो पाई है। युवक ने अपने कमेंट लिखा कि उसने युवक का मुंह काला करने और जूतों की माला पहनाने का फैसला किया है। साथ ही उसने लोगों से भी इस मामले में उनकी राय मांगते हुए पूछा कि यह उसने सही किया है या गलत। चौंकाने वाली बात यह है कि खुफिया तंत्र तक को इस बड़े मामले की खबर नहीं लगी और मामला दबा दिया गया।

---गांव में पुलिस के आने पर यह मामला संज्ञान में आया है। युवक के साथ ऐसा करके गलत किया है। गांव के लिए शर्मनाक घटना है। मुझे भी इसकी जानकारी मिली थी। गांव के कुछ लोगों ने बैठक कर ऐसा किया है। बैठक की जानकारी मिली थी, लेकिन मैं शामिल नहीं हुआ था। इस मामले में कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। गांव की चुनी हुई पंचायत का इससे कोई लेना-देना नहीं है।

- भीष्म, सरपंच प्रतिनिधि, मिताथल--

---घटना काफी निंदनीय है। पुलिस वीरवार को घर पर आई तो यह मामला संज्ञान में आया है। ऐसा कर लोगों ने कानून को हाथ में लिया है, जो कि गलत है। जो भी लोग शामिल हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई होनी च‌ाहिए।

- राजू, सरपंच प्रतिनिधि, घुसकानी

---पुलिस इस मामले में गंभीरता से कार्रवाई कर रही है। सदर थाना प्रभारी को जांच सौंप कर तुरंत प्रभाव से कार्रवाई करने के आदेश दिए है। पीड़ित परिवार के साथ पूरी तरह से न्याय किया जाएगा।

अजीत सिंह शेखावत, एसपी, भिवानी

Edited By: Manoj Kumar