संवाद सहयोगी, हांसी (हिसार) : उमरा गांव में स्थित पब्लिक स्पोट्र्स स्कूल के संचालक व विभिन्न खेलों के कोचों पर एक विद्यार्थी को तरह-तरह की यातनाएं देकर थर्ड-डिग्री टार्चर करने का आरोप लगा है। सदर पुलिस ने जिला भिवानी के लोहारू के निकट स्थित एक गांव के निवासी छात्रकी शिकायत पर स्कूल के कोच विक्रम, कोच नवीन शर्मा, संस्था के संचालक व कोच संजय, कोच शशिकांत के अलावा सचिन व विनय को नामजद करते हुए विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। इन कोचों की पिटाई से घायल हुए छात्र का इलाज भिवानी के अस्पताल में चल रहा है।

पुलिस को दी शिकायत में छात्र ने बताया कि उसने 21 अप्रैल 2021 को पब्लिक स्कूल उमरा में दसवीं कक्षा में दाखिला लिया था। करीब एक महीना पहले ग्यारहवीं कक्षा के छात्र ने उस पर चोरी करने का इल्जाम लगा दिया और बाद में कोच विक्रम के नाम से डराकर पैसों की डिमांड करने लगा। उसने बताया कि इसके बाद 9 जुलाई को दोपहर तीन बजे कोच विक्रम ने उसे वार्डन रूम में बुलाया और बिना कुछ कहे बुरी तरह से पिटाई शुरू कर दी। इसके बाद रात 11 बजे उसे वार्डन रूम में बुलाया गया, जहां कोच विक्रम, नवीन शर्मा, संचालक संजय ने उससे मारपीट की तथा उठा-उठाकर पटका।

छात्र ने शिकायत में बताया कि इसके बाद विक्रम ने सचिन सातरोड व विनय के साथ मिलकर उसे 15 बार पानी के होद में डुबकी लगवाई और बिना कोई कसूर थर्ड डिग्री टार्चर किया। छात्र ने बताया कि इस पिटाई से उसका कंधा, पसली, छाती, पीठ, कोहनी, घुटने, गर्दन, सिर में चोटें लगीं। कोचों ने उसके गुप्तांग में भी चोटें मारीं। छात्र ने बताया कि आरोपितों ने यह बात माता-पिता को भी न बताने की धमकी दी। जब उसने अपने मम्मी-पापा से फोन पर बात की तो शशीकांत कोच ने फोन छीन लिया।

छात्र ने बताया कि 16 जुलाई को जब उसके माता-पिता उसे लेने के लिए आए तो कोच विक्रम ने धमकी दी कि चाहे कुछ भी कर लो, हमारा कुछ नहीं बिगाड़ पाओगे। हमने यहां ऐसे ही एकेडमी नहीं चला रखी, पुलिस तो यहां अक्सर आती-जाती रहती है। इसके बाद छात्र के माता-पिता ने उसे लोहारू के सीएचसी अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां डाक्टरों ने उसे भिवानी रेफर कर दिया। पुलिस ने उक्त सभी कोचों सहित छह लोगों को नामजद करते हुए केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

-----छात्र द्वारा लगाए गए सभी आरोप निराधार हैं। छात्र की पहले भी कई बार चोरी की शिकायतें मिल चुकी हैं। इसलिए उसे स्कूल से निकाला गया था। लेकिन उसके परिवार वाले उसे स्कूल में दोबारा दाखिल करने के लिए दबाव बनाना चाहते हैं। इसीलिए यह केस दर्ज करवाया गया है।

सुमन, कलर्क, पब्लिक स्पोट्र्स स्कूल

 

Edited By: Manoj Kumar