हिसार, जेएनएन। सेनेटरी पैड कचरे का भविष्य में अलग से निपटान होगा। पर्यावरण बचाव की दिशा में नगर निगम प्रशासन ने सेनेटरी पैड और बच्चों के डायपर सहित इलेक्ट्रोनिक्स उपकरण को अलग से संग्रहण करेगा। इसके लिए नगर निगम ने पायलेट प्रोजेक्ट तैयार किया है, जिसके तहत नगर निगम के दो कचरा संग्रहण करने वाले वाहनों के पीछे 20 लीटर के दो-दो डस्टबिन लगवाए गए हैं, जिसमें एक डस्टबिन में सेनेटरी पैड व डायपर एकत्रित किए जाएंगे, जबकि दूसरे डस्टबिन में इलेक्ट्रोनिक्स कचरा एकत्रित किया जाएगा। यदि प्रोजेक्ट सफल रहा तो निगम इसे आगामी समय में निगम के सभी कचरा संग्रहण वाहनों पर शुरु करेगा।

पर्यावरण बचाव को लेकर निगम ने उठाया कदम

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) पर्यावरण सुरक्षा के प्रति गंभीर है। उसी दिशा में पर्यावरण बचाव के लिए कई कदम उठाए गए हैं। उसकी कड़ी में पर्यावरण बचाव के लिए नगर निगम प्रशासन ने सेनेटरी पैड व इलेक्ट्रोनिक्स कचरा अलग अलग संग्रहण करने की प्लानिंग के तहत पायलेट प्रोजेक्ट शुरू किया गया। शनिवार को नगर निगम के एसई रामजीलाल ने निगम के दो कचरा संग्रहण करने वाले वाहनों के पीछे दो डस्टबिन लगवाए, जिनमें यह कचरा संग्रहण होगा।

महिलाओं को सेनेटरी पैड सहित कचरा सेग्रीगेशन के प्रति किया जाएगा जागरूक

महिलाएं सेनेटरी पैड व बच्चों के डायपर अलग से घर में रखे। यह निगम प्रशासन के सामने बड़ी चुनौती होगी। इसके लिए नगर निगम की टीम सक्षम युवाओं और एनजीओ की महिलाओं के सहयोग से महिलाओं को कचरे के सेग्रीगेशन के बारे में जागरूक करेगी। निगम टीम पहले शहर में जागरुकता फैलाएगा, ताकि महिलाएं निसंकोच सेनेटरी पैड इन डस्टबिन में डाल सके ओर नगम उसके निपटान के लिए अलग से कार्य कार्य कर सकें।

निगम का यह सराहनीय कदम : रुही गुप्ता

महिलाओं में स्वास्थ्य जागरूकता के प्रति कार्य करने वाली रुही गुप्ता व उनकी संस्था की सदस्य ने नगर निगम के इस प्रोजेक्ट की सराहनी की। पिंकेश फाउंडेशन की ओर से कार्य करने वाली रुही गुप्ता ने कहा कि यह एक बेहतरीन पहल है। इसमें नगर निगम प्रशासन एनजीओ से जुड़ी महिलाओं को भी जोड़े और महिलाओं में अपने इस प्रोजेक्ट के प्रति जागरुकता फैलाए। इससे सेनेटरी पैड कचरे का सही से निपटान होगा

 

----कचरा संग्रहण करने वाले दो वाहनों 20-20 लीटर के दो डस्टबिन लगवाए है, जिसमें एक सेनेटरी पैड संग्रहण और दूसरा डस्टबिन इलेक्ट्रिकल वेस्ट को इकट्ठा करने के लिए लगाए गए हैं। यह एक पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू कर रहे हैं। यदि सफल रहा तो इसे सभी वाहनों पर शुरू किया जाएगा।

- रामजीलाल, एसई, नगर निगम हिसार।

Posted By: Manoj Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप