जागरण संवाददाता, हिसार :

सैनिक एवं अर्धसैनिक कल्याण विभाग ने मंगलवार को गांव खरक पूनिया में वीर शहीद शेर सिंह की स्मृति में एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया। इस दौरान शहीद की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अíपत करते हुए उनके परिजनों को सम्मानित किया गया। सैनिक एवं अर्धसैनिक कल्याण अधिकारी कैप्टन प्रदीप बाली ने बताया कि वीर-शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए प्रदेश सरकार ने उनके जन्म स्थल पर जाकर कार्यक्रम आयोजित करने का फैसला किया है। इसी कड़ी में आज गांव खरक पूनिया के शहीद सिपाही शेर सिंह पुत्र सुखी राम की 54वीं वर्षगांठ पर उनके गांव में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान अधिकारियों ने वीर शहीद के परिजनों को सम्मानित किया। कैप्टन प्रदीप बाली ने बताया कि भारतीय सेना के सिपाही शेर सिंह सन 1962 में सेना की आ‌र्म्ड कॉ‌र्प्स में भर्ती हुए। भर्ती के 3 साल बाद 1965 के भारत-पाक युद्ध के दौरान स्यालकोट क्षेत्र में 10 सितंबर 1965 को दुश्मन से लोहा लेते हुए उन्होंने देश की आन-बान-शान के लिए अदम्य साहस का परिचय देते हुए अपने प्राणों की आहुति दी। इसके लिए इनका व इनके गांव का नाम इतिहास के पन्नों पर स्वर्ण अक्षरों में लिखा गया है, जो सदैव अमर रहेगा। कार्यक्रम में कल्याण अधिकारी राजेंद्र गोदारा व दलबीर गिल, प्रधानाचार्य ओमप्रकाश शर्मा, कैप्टन सज्जन कुमार लितानी, नायब सूबेदार भवानी सिंह, हिसार कैंट से नायक विश्वनाथ प्रताप सिंह, सरपंच संदीप, मास्टर गुरदीप सिंह सहित पंचायत विभाग व सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के अधिकारी-कर्मचारी भी मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप