जागरण संवाददाता,झज्जर : कोरोना महामारी के चलते स्कूल बंद होने के चलते 134ए के तहत दाखिला प्रक्रिया भी धीमी चल रही है। विद्यार्थियों को भी दाखिला लेने में परेशानी हुई। जिसको देखते हुए विभाग ने भी दाखिले की अंतिम तिथि में बढ़ोतरी करते हुए 15 जनवरी तक किया गया था। ताकि सभी विद्यार्थी दाखिला ले सके। लेकिन 15 जनवरी तक करीब एक महीने चले दाखिला प्रक्रिया में जिले के करीब आधे विद्यार्थी ही 134ए के तहत प्राइवेट स्कूलों में दाखिला ले पाए। जिससे अनुमान लगाया जा सकता है कि काफी विद्यार्थियों को दाखिले से वंचित रहना पड़ा। वहीं दाखिला प्रक्रिया धीमी होने के कारण विद्यार्थियों की पढ़ाई को लेकर अभिभावक भी चिंतित हैं।

अब विभाग ने 15 जनवरी तक चली दाखिला प्रक्रिया के बाद पूरा रिकार्ड आनलाइन अपलोड करने के लिए कहा गया है। इसके लिए संबंधित अधिकारियों को 25 जनवरी तक 134ए की दाखिला प्रक्रिया का पूरा रिकार्ड आनलाइन अपलोड करने के निर्देश दिए गए हैं। ताकि यह पता लग सके कि कितनी सीटें रिक्त बची हुई हैं। बची हुई सीटों पर दूसरी लिस्ट जारी की जाए। जिससे कि बचे हुए विद्यार्थियों को भी 134ए के तहत प्राइवेट स्कूलों में दाखिला लेने का मौका मिल पाए। वहीं 25 जनवरी तक रिकार्ड आनलाइन अपलोड होने के बाद जल्द ही सप्ताहभर में दूसरी लिस्ट आने के उम्मीद जगी है।

जिला की बात करें तो 134ए के तहत दाखिला के इच्छुक कुल 3062 विद्यार्थियों ने आनलाइन आवेदन किया। वहीं परीक्षा में कुल 2817 विद्यार्थी बैठे और 245 विद्यार्थी अनुपस्थित रहे। परीक्षा पास करने वाले विद्यार्थियों की पहली लिस्ट जारी की और विद्यार्थियों को प्राइवेट स्कूल अलाट किए। पहली लिस्ट में 2004 विद्यार्थियों को अलग-अलग प्राइवेट स्कूल दाखिले के लिए अलाट किए गए। विद्यार्थियों को 15 जनवरी तक विद्यार्थियों को अलाट किए गए स्कूलों में दाखिला लेना था। 15 जनवरी तक 1049 (52.4 प्रतिशत) विद्यार्थियों ने दाखिला लिया और 315 (15.8 प्रतिशत) विद्यार्थियों को रिजेक्ट कर दिया गया। वहीं 640 (31.9 प्रतिशत) विद्यार्थी दाखिला ही नहीं ले पाए।

-पहली लिस्ट में शामिल विद्यार्थियों के दाखिले का रिकार्ड 25 जनवरी तक अपडेट करना है। इसके बाद जल्द ही दूसरी लिस्ट आने की उम्मीद है। ताकि रिक्त सीटों पर बचे हुए विद्यार्थियों को दाखिला मिल सके।

दिलजीत सिंह, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी, झज्जर।

Edited By: Manoj Kumar