हिसार, जेएनएन। आयकर विभाग को पूर्व कांग्रेस विधायक और हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री स्व. भजन लाल के पुत्र कुलदीप बिश्नोई के पास से 30 करोड़ रुपये कीमत की कुछ पेंटिग्‍स मिली हैं। इस पेंटिग्‍स को नामी कलाकारों द्वारा तैयार किया गया था। खास बात है कि पूर्व में विधायक के आवास सहित 13 स्थानों पर छापेमारी के दौरान ही यह पेंटिग्‍स मिलीं थी, जिसे बहुत संभाल के रखा गया था।

इन पेंटिग्‍स को आयकर विभाग दिल्ली इन्वेस्टिगेशन विंग के अधिकारी अपने साथ ले गए थे। इसके बाद सरकारी एजेंसियों के माध्यम से इस पेंटिग्‍स की कीमत का आंकलन कराया गया तो आयकर विभाग के अधिकारी भी चौंक गए। इसमें हैरानी की बात है कि 30 करोड़ रुपये पेंटिग्‍स पर आयकर विभाग को किसी प्रकार का टैक्स अदा नहीं दिया गया था। आयकर विभाग ने इसको बेनामी ही माना है। समाचार एजेंसी पीटीआइ की तरफ से जारी विज्ञप्ति में यह खुलासा हुआ है।

आइटी एक्ट के नियमों के तहत किया जब्त

सूत्रों की मानें तो आइटी एक्ट के तहत पेंटिग्‍स को जब्त किया गया है। इसमें इसको लेकर अधिकारियों को निवेश और खरीद के स्रोत विधायक की तरफ से आयकर विभाग को देय नहीं मिल सके। इसके पूर्व कांग्रेस विधायक के पास आयकर की रेड में 32 करोड़ रुपये से अधिक की बेनामी संपत्ति आयकर विभाग जब्त कर चुका है। इसके साथ ही 200 करोड़ रुपये से अधिक की अघोषित विदेशी संपत्ति का भी आयकर विभाग के अधिकारियों को पता चला था। विभाग ने पिछले माह गुरुग्राम में एक प्रमुख व्यवसायिक स्थान से 150 करोड़ रुपये का पांच सितारा होटल भी अटैच किया था, जिसे विधायक कुलदीप और उनके भाई चंद्रमोहन की बेनामी संपत्ति बताया जा रहा था।

इन स्थानों पर आयकर ने मारा छापा

आइटी विभाग द्वारा कथित टैक्स चोरी के आरोप में 23 जुलाई को हरियाणा, दिल्ली, हिमाचल प्रदेश में 13 परिसरों में तलाशी की गई थी। छापे के बाद आधिकारिक बयान में सीबीडीटी की तरफ से कई बड़े खुलासे किए गए थे।

Posted By: Manoj Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप