जागरण संवाददाता, रोहतक : हिसार में आयोजित हुई सीनियर नेशनल महिला बाक्सिंग चैंपियनशिप में रोहतक के एक गांव की दो बेटियाें मीनाक्षी व ज्योति ने अपने पंच का दम दिखाया है। रुडकी गांव की दोनों बेटियां चैंपियनिशप में छाई रही और उन्होंने मेडल जीतकर नाम रोशन किया है। यह पहला अवसर रहा जब इस गांव की ये बेटियां एक साथ सीनियर नेशनल महिला बाक्सिंग चैंपियनशिप के रिंग में उतरी। ग्रामीण आंचल में पली बढ़ी ये बेटियां रोहतक के रुडकी गांव स्थित शहीद बैतून सिंह स्टेडियम में प्रैक्टिस करती हैं। बेटियों की इस उपलब्धि को लेकर कोच विजय हुड्डा सहत समस्त ग्रामीणों वे स्टेडियम के खिलाड़ियाें में खुशी की लहर है।

कोच विजय हुडडा ने बताया कि दोनों बाक्सर यहां के स्टेडियम में पिछले सात साल से निश्शुल्क प्रैक्टिस करती हैं। ये बाक्सर पहले भी राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपना दम दिखा चुकी हैं और अब इस नेशनल चैंपियनशिप में भी अपनी प्रतिभा दिखाते हुए मेडल जीतने में कामयाब हुई हैं। उन्होंने बताया कि मीनाक्षी व ज्याेति ने 52 किलोग्राम भार वर्ग में अपने प्रतिभा दिखाई है। मीनाक्षी ने जहां इस भार वर्ग में सिल्वर मेडल हासिल किया है वहीं ज्योति ने कांस्य पदक पर कब्जा किया है। दोनों बाक्सर सामान्य परिवारों से हैं। दोनों खिलाड़ियों के पिता किसान हैं। चाहे आंधी हो या बारिश ये खिलाड़ी सुबह पांच बजे स्टेडियम में पहुंच जाती हैं और यहां रुडकी स्टेडियम में सुबह-शाम तीन-तीन घंटे कोच विजय की देखरेख में सात साल से अभ्यास करती हैं।

मीनाक्षी की उपलब्धि :

अब सीनियर नेशनल महिला बाक्सिंग चैंपियनशिप में सिल्वर

आल इंडिया यूनिवर्सिटी चैंपियन

यूथ नेशनल चैंपियन

खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी चैंपियन

इंटरनेशनल सिल्वर मेडलिस्ट

ज्योति गुलिया उपलब्धि :

2016 यूथ नेशनल में गोल्ड मेडल

2017 यूथ वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल

2019 यूथ ओलिंपिक क्वालीफाई

सिक्स टाइम इंटरनेशनल चैंपियन

2019 सीनियर नेशनल चैंपियन

अब सीनियर नेशनल महिला बाक्सिंग चैंपियनशिप में कांस्य

Edited By: Manoj Kumar