हिसार, जागरण संवाददाता। हिसार में ट्रैफिक जाम से शहर का दम घुट रहा है, मुख्य मार्गों पर बार-बार जाम लग रहा है। सुबह से शाम तक वाहनों की आवाजाही के दौरान लगने वाला जाम प्रदूषण का स्तर भी बढ़ रहा है। दैनिक जागरण द्वारा राष्ट्रव्यापी सड़क सुरक्षा अभियान के तहत ट्रैफिक का मुद्दा उठाया जा रहा है। इसी कड़ी में जनता को जाम की समस्या से निजात दिलाने के लिए ट्रैफिक पुलिस भी अब यातायात का मास्टर प्लान बनाएगी। जिसके तहत बस स्टैंड से लेकर जिंदल चौक तक जहां जहां सरकारी जमीन मिल सकती है या सड़क को चौड़ा किया जा सकता है तो सड़क की चौड़ाई बढ़ाई जाएगी।

हाउस की बैठक में पहले ही दिन ट्रैफिक का गुंजा मुद्दा, बनेगा प्लान

यह फैसला मंगलवार को नगर निगम सभागार में हुई हाउस की बैठक में मेयर गौतम सरदाना की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में लिया गया। सात माह तीन दिन बाद हुई इस तीन दिवसीय बैठक के पहले दिन मीटिंग की शुरुआत हंगामेदार हुई। पार्षद अमित ग्रोवर कई लोगों को साथ लेकर हाउस की बैठक में पहुंचे। वहां हंगामा हो गया। हंगामे के साथ शुरु हुई मीटिंग में जनता से जुड़े कई महत्वपूर्ण मुद्दे भी उठे। जिसमें नशा रोकथाम से लेकर स्लम बस्तियों में सुविधाएं मुहैया करवाने से जुड़े हुए थे।

ट्रैफिक के प्लान में ये भी होगा शामिल

  • बस स्टैंड से गुरुद्वारा तक गुजरी महल की तरफ वाले क्षेत्र में सड़क की चौड़ाई बढ़ाई जाएगी। पार्षद अनिल जैन के अनुसार यह प्लान सिरे चढ़ा तो 15 से 20 फीट तक सड़क की चौड़ाई और बढ़ जाएगी।
  • जिंदल चौक क्षेत्र से लेकर जिंदल अस्पताल से होते हुए तोशाम रोड़ तक सड़क से कब्जे हटेंगे। सड़क पर लगने वाले जाम से मुक्ति के लिए पुलिस बल तैनाती होगी और नो पार्किंग से वाहन जब्त किए जाएंगे।
  • आजाद नगर में भी मुख्य मार्ग से लेकर मार्केट क्षेत्र से ट्रैफिक व्यवस्था को दुरुस्त करवाया जाएगा।

सरकारी जमीन के सहयोग से सड़क की बढ़ाई जाएगी चौड़ाई

फव्वारा चौक से जिंदल चौक तक जहां भी सरकारी जमीन मिल सकती है। उसे प्राप्ति के लिए निगम और ट्रैफिक पुलिस के साथ मिलकर प्लान बनाएंगे। मेयर ने अधिकारियों को आदेश दिए है कि जहां से जमीन मिल सकती है उसे प्राप्त कर सड़क की चौड़ाई जहां तक संभव है बढ़ाई जाए ताकि ट्रैफिक जाम से निजात मिल सके।

7 माह बाद हुई बैठक में भी बिना होमवर्क के पहुंचे अफसर

नगर निगम हाउस की बैठक को आला अफसर तवज्जो नहीं दे रहे इस पीड़ा को एक बार फिर जनप्रतिनिधि को सहन करना पड़ा। मीटिंग में आलम ये था कि करीब 80 प्रतिशत पुराने एजेंडे ऐसे थे जिसपर अधिकारी बिना पूरा होमवर्क किए हुए मीटिंग में पहुंचे। कई अधिकारी तो ऐसे थे जो पार्षदों द्वारा सालों से रखे जा रहे एजेंडे पर वहीं पुराने जवाब देते नजर आएंगे कि देखते है जी, करवा देंगे जी, आपके साथ चलकर निरीक्षण करते है, प्लान बनाकर मुख्यालय को भेज देंगे इत्यादि जवाबों से हाउस एक बार फिर गुंजायमान रहा।

टैफिक लाइटों पर भी हुई चर्चा

नई टैफिक लाइटों किन किन क्षेत्रों में लगाई जाएगी। इसको लेकर भी शहर में अधिकारी निरीक्षण करेंगे। पार्षद महेंद्र जुनेजा ने कैमरी रोड पर ट्रैफिक लाइट की मांग की वहीं पार्षद कविता केडिया ने सिरसा रोड और सिरसा रोड पर संत शिरोमणि गुरु श्री रविदास छात्रावास के पास कैट आई व ट्रैफिक से जुड़ी अन्य सुविधाओं की मांग की। जिसको लेकर एनएचएआई से अधिकारी बातचीत करेंगे।

बैठक में अधिकारी रहे मौजूद

मेयर गौतम सरदाना, नगर निगम कमिश्नर प्रदीप दहिया, सीनियर डिप्टी मेयर अनिल मानी, डिप्टी मेयर जयवीर यादव, अतिरिक्त निगम आयुक्त डा. प्रदीप हुड्डा, ज्वाइंट कमिश्नर बेलिना, एचएसवीपी ईओ राजेश खोथ सहित 17 पार्षद, तीन मनोनीत पार्षद मीटिंग में पहुंचे।

Edited By: Naveen Dalal

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट