जागरण संवाददाता, फतेहाबाद। फतेहाबाद में मंगलवार को डेंगू का एक केस मिला है। जिससे स्वास्थ्य विभाग को राहत मिली है। वहीं कोरोना का केस भी शून्य रहा है। पिछले कुछ दिनों से स्वास्थ्य विभाग की पूरी टीम डेंगू की रोकथाम के लिए लगी हुई है। लेकिन अब फिर से कोरोना की आहट शुरू होने के बाद स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा दी है। लेकिन राहत ये है कि डेंगू के केस कम हो रहे है। जिले में अब तक डेंगू के 986 केस आ चुके है। इस बार जिले में सबसे अधिक केस आए है।

वर्ष 2017 में डेंगू के 417 मामले आए थे। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों का जिक्र करे तो जिले में अब तक 196 लोग अस्पताल में भर्ती हुए है। लेकिन अब मौजूदा स्थिति में केवल दो ही मरीज अस्पताल में भर्ती है। स्वास्थ्य विभाग की तरफ से 4128 लोगों के डेंगू के सैंपल लिए गए है। मंगलवार को फतेहाबाद में 1721 घरों का सर्वे किया गया। जिसमें 9 घरों में डेंगू का लार्वा मिला है। स्वास्थ्य विभाग अब भी परेशान है कि घरों में लार्वा कहां से मिल रहा है। इस समय पानी की टंकी में डेंगू का लार्वा मिला है।

मंगलवार को 528 सैंपल कोरोना के लिए

स्वास्थ्य विभाग की तरफ से आदेश दिए गए है कि हर दिन एक हजार से अधिक कोरोना के सैंपल ले। लेकिन अभी तक इसमें रफ्तार नहीं आई है। मंगलवार को जिले में 528 लोगों के कोरोना सैंपल लिए गए है। इनमें से आरटीपीसीआर 459 व 69 एंटीजन टेस्ट लिए गए है। जिले में अब 459 लोगों के सैंपलों की रिपोर्ट आनी बाकी है। पिछले दिनों पारता स्कूल के दो विद्यार्थी कोरोना पाजिटिव पाए गए थे। लेकिन अब वो पूरी तरह स्वस्थ है और जिला अब कोरोना मुक्त हो चुका है।

सैंपल बढ़ाने के दिए आदेश

नोडल अधिकारी डा. मेजर शरद तूली ने बताया कि जिले में कोरोना के सैंपल बढ़ाने के आदेश दिए गए है। नागरिक अस्पताल में अब कोई भी मरीज आ रहा है पहले उसका टेस्ट किया जा रहा है। टेस्ट करने के बाद ही उसे दवाइयां दी जा रही है।

Edited By: Rajesh Kumar