जागरण संवाददाता, हिसार : हिसार एयरपोर्ट पर आउटसोर्सिंग के जरिये कर्मचारियों की भर्ती की जाएगी। अकाउंटेंट से लेकर चपरासी तक प्राइवेट एजेंसी द्वारा ही लिए जाएंगे। इसके लिए एविएशन डिपार्टमेंट हरियाणा ने टेंडर लगा दिए हैं, जो 18 नवंबर को बंद होंगे। कोई भी लाइसेंस धारक एजेंसी इसके लिए आवेदन कर सकती है। सरकार की शर्त यह है कि सिर्फ वही एजेंसी इसमें आवेदन कर सकती है जिसका सालाना टर्नओवर कम से कम 50 लाख रुपये हो।

सरकार कंपनी के द्वारा ही फुल टाइम अकाउंटेंट, सब डिविजनल क्लर्क, सेनेटरी सुपरवाइजर, सिक्योरिटी इंस्पेक्टर, चपरासी और सफाई कर्मियों को लेगी। इन कर्मचारियों को न्यूनतम डीसी रेट जितना वेतन दिया जाएगा। इसके अलावा एजेंसी पद और कार्य के हिसाब से मानदेय निर्धारित कर सकेगी। अगर एजेंसी सरकार के अनुरूप अच्छा कार्य करती है तो सरकार एजेंसी की समय अवधि को भी बढ़ा सकती है। सरकार की ओर से घोषणा की गई थी कि नवंबर में हिसार एयरपोर्ट का संचालन शुरू कर दिया जाएगा। उसके अनुरूप सरकार ने इससे पहले नॉन शेड्यूल फ्लाइट के लिए टेंडर लगाए थे। हिसार एयरपोर्ट से तीन पर्यटन स्थलों पर उड़ान शुरू की जाएगी। इसमें देहरादून, जम्मू और जयपुर शामिल हैं। सरकार ने नॉन शेड्यूल एजेंसी को लुभाने के लिए नाइट लैं¨डग और फ्री पार्किंग जैसे ऑफर भी दिए हैं।

---

ये हैं नियम और शर्तें - एजेंसी पूरी तरह से सरकारी मापदंडों पर खरी उतरती हो।

- एजेंसी के पास लाइसेंस होना चाहिए और कम से कम तीन साल का अनुभव होना चाहिए।

- एजेंसी का सालाना टर्नओवर कम से कम 50 लाख रुपये हो।

- अगर एजेंसी संतोषजनक काम नहीं करती तो 15 दिन का नोटिस देकर उसका अनुबंध समाप्त किया जा सकता है।

- एजेंसी द्वारा ही कर्मचारियों को वेतन दिया जाएगा। वेतन कम से कम डीसी रेट पर देना होगा।

- कर्मचारियों के कल्याण और स्वास्थ्य आदि की सुविधाओं के लिए एजेंसी जिम्मेदार होगी।

Posted By: Jagran