जागरण संवाददाता, हिसार : भारतीय संविधान का आर्टिकल 33बी में किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य यानी एमएसपी की बात कही गई है। सरकार एमएसपी तय भी करती है मगर कभी एमएसपी पर फसल बिकती नहीं। यह सरकार की जिम्मेदारी है कि एमएसपी पर किसान की फसल का एक-एक दाना खरीदा जाए। यह बात भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने शनिवार को हिसार के कांग्रेस भवन में आयोजित पत्रकार वार्ता में कही। सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस सरकार में किसानों को पूरा एमएसपी मिलता था। यही कारण है कि कांग्रेस सरकार में कभी किसान आंदोलन नहीं हुआ। भाजपा सरकार में किसानों की फसल औने-पौने दामों पर बिकी है इसलिए किसान आंदोलन पर मजबूर हुए। सुरजेवाला ने कहा कि कपास एमएसपी से ज्यादा का बिका मगर गुलाबी सुंडी ने सारी फसल तबाह कर दी किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ा मगर सरकार ने अब तक किसानों को मुआवजा नहीं दिया। सरकार की किसानों के प्रति मंशा ठीक नहीं है।

सलमान खुर्शीद की किताब पर सुरजेवाला ने कहा कि मैं किताबों पर टिप्पणी नहीं करता। हर व्यक्ति की राय अलग-अलग होती है। खुर्शीद की किताब उनकी व्यक्तिगत सोच है। सुरजेवाला ने हरियाणा में बढ़ रहे अपराध पर भी जजपा-भाजपा की सरकार को घेरा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में बढ़ रहे अपराध पर सरकारी की चुप्पी पर हैरानी जताते हुए कहा कि ऐसा प्रतीत होता है खट्टर सरकार का अपराध को संरक्षण है। अपराधी बेखौफ होकर लूट, डकैती कर रहे हैं। महिलाओं के साथ पुलिस ही दुष्कर्म कर रही है। व्यापारियों से सरेआम फिरौती मांगी जा रही है। प्रदेश में सरकार नाम की चीज नहीं है। सरकार या तो अपराध पर लगाम लगाए नहीं तो कुर्सी छोड़े। इस मौके पर युवा कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं जिला पार्षद कृष्ण सातरोड़, सतपाल कुलड़िया, युवा कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष आनंद जाखड़, भरत सिंह मलिक, राजेश संदलाना, ओपी कोहली, अरविद बांडाहेड़ी, नरसिंह बल्हारा, मनोज कोहली और कपिल श्योराण मौजूद रहे।

Edited By: Jagran