मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

फतेहाबाद/हिसार, जेएनएन। बीते कई दिनों से देश के कई इलाकों में बाढ़ के हालात हैं तो कई राज्‍यों में लगातार बारिश हो रही है। मगर हरियाणा में अभी भी बारिश के लिए लोग तरसे जा रहे हैं। आलम ये है कि अगस्त महीने के 12 दिन गुजर जाने के बावजूद बारिश नहीं हुई है। आधे सावन तक तो बदरा खूब बरसे मगर अब बादल आते भी हैं तो बिना बरसे ही चले जाते हैं। अभी भी लोगों को इंद्रदेव के मेहरबान होने का इंतजार है।

बरसात न होने से फसलें सूखने की कगार पर हैं। कभी धूप निकल आती है तो कभी बादल छा जाते हैं। हर दिन मौसम बदल रहा है। लेकिन जिले में अच्छी बरसात अभी तक नहीं हुई। सोमवार को भी सुबह तेज धूप निकली तो दोपहर बाद आसमान में बादल छा गए। मगर बारिश नहीं हुई, बस कहीं पर छिटपुट बूंदाबांदी ही हुई। मंगलवार की सुबह भी धूप और बादलों की आंखमिचोली ही चल रही है। मौसम विभाग के अनुसार अब 15 अगस्‍त तक बाछल छाए रहने के साथ बारिश की संभावना जताई गई है। ऐसा होता है तो फसलों को भी फायदा मिलेगा और बारिश होने से गर्मी से भी राहत मिलेगी। सोमवार को अधिकतम तापमान 34 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया तो वहीं न्‍यूनतम तापमान 29 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मंगलवार को भी इसी तरह का तापमान बना रहा मगर न्‍यूनतम तापमान में करीब 2 डिग्री की गिरावट देखने को मिली।

न्यूनतम तापमान भी बढ़ रहा

बरसात न आने के कारण अधिकतम तापमान तो बढ़ रहा है वहीं रात के तापमान में भी बढ़ोतरी हो रही है। फसलों में बीमारी होने का मुख्य कारण यही है। उमस के कारण फसलों में कीट उत्पन्न हो रहा है। किसान लगातार कीटनाशक का छिड़काव कर रहा है ताकि इससे निजात मिल जाए। पिछले दस दिनों से तापमान स्थिर है। कभी एक डिग्री बढ़ जाता है तो कभी एक डिग्री घट भी रहा है। लेकिन इतना नहीं है कि कुछ राहत मिल सके।

ये कहना है किसानों का

किसानों ने बताया कि जिले में पिछले 15 दिनों से बरसात नहीं हुई है। इस कारण धान की फसल भी खराब हो रही है। ट्यूबवेल अधिक चलने के कारण बिजली भी पूरी नहीं मिल रही है। ट्यूबवेल पर आठ घंटे बिजली देने की योजना है लेकिन दिन में केवल पांच घंटे ही मिल रही है। अगर कुछ दिनों में बरसात नहीं हुई तो धान की फसल खराब हो जाएगी। सावन भी सूखा बीत रहा है। अब तो स्थिति ये है कि समय पूर्व ही बालियां आनी शुरू हो गईं। वही नरमे की फसल भी प्रभावित हो रही है।

---15 अगस्त तक बरसात आने की उम्मीद है। इस समय एक अच्छी बरसात हो गई तो फसलें पक जाएंगी। उम्मीद है कि अगले चार पांच दिनों में जिले में अच्छी बरसात होगी। बरसात के साथ ही फसलों को बीमारियों से भी मुक्ति मिल जाएगी।

डा. बलवंत सहारण, उपकृषि निदेशक फतेहाबाद।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: manoj kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप