हिसार, जेएनएन। मौसम ने एक बार फिर से करवट बदली है। शुक्रवार सुबह जहां तेज धूप निकली वहीं दोपहर होने के साथ ही मौसम का मिजाज बदल गया। आसमान में बादल छा गए और शाम को हिसार व अन्‍य कई जिलों में तेज हवाओं के साथ बारिश हुई।

भिवानी के कलानौर, हिसार के अग्रोहा व कुछ अन्‍य जगहों पर तो बारिश के साथ ओलावृष्टि भी हुई। रोहतक में तो करीब एक फुट तक सड़कों पर पानी भर गया। जिससे कई जगह फसलों को भारी नुकसान हुआ है। वहीं बिरानी क्षेत्रों में जहां फसल बिजाई नहीं हुई है वहां बड़ा नुकसान नहीं है। फतेहाबाद में तेज हवाओं के साथ ओलावृष्टि हुई ऐसे में यहां भी नुकसान हुआ है। क्‍योंकि इन दिनों धान की फसल पकने की ओर है।

रोहतक में बारिश के बाद पानी के बीच से गुजरते वाहन

बारिश होने से मौसम में गर्मी कम हो गई है तो आने वाले दिनों में ठंड और बढ़ेगी। पश्चिमी विक्षोभ के कारण मौसम में बदलाव हुआ है। वहीं एक दम से बारिश होने से किसानों की चिंता बढ़ गई है। जहां फसल कटाई का काम हो चुका है वहां ओलों से ज्‍यादा नुकसान नहीं है।

>

एचएयू मौसम विभाग विशेषज्ञ के अनुसार हरियाणा में मौसम 22 अक्तूबर तक आमतौर पर परिवर्तनशील रहने की संभावना है। वहीं 18 व 19 अक्तूबर को आंशिक बादल व कहीं कहीं छिटपुट बूंदाबांदी की संभावना जताई गई थी। ऐसे में कल भी इसी तरह का मौसम बने रहने के आसार हैं। बारिश होने से अब रात्री तापमान में हल्की गिरावट संभावित है।

गुरुवार को अधिकतम तापमान जहां 35 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया वहीं शुक्रवार को बारिश के बाद इसमें करीब पांच डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। वहीं न्‍यूनतम तापमान में भी गुरुवार की तुलना में 24 डिग्री से दो डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। अनुमान है कि रात और सुबह के वक्‍त तापमान में और ज्‍यादा गिरावट देखने को मिलेगी।

Posted By: Manoj Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप