संवाद सहयोगी, हांसी : शहर में कैफे की आड़ में धड़ल्ले से देह व्यापार के अड्डे चल रहे हैं। पुलिस ने शुक्रवार को मार्केट में चल रहे कैफे पर छापेमारी की गई। पुलिस रेड की सूचना मिलते ही कैफे संचालकों में हड़कंप मच गया। पुलिस ने पांच कैफे पर छापे मारे, लेकिन कुछ हाथ नहीं लगा। कैफे संचालकों को पुलिस कार्रवाई की भनक पहले ही लग गई थी। डीएसपी को कैफे के अंदर केबिनों में रखे गद्दों व सिगल बेड मिले, जिन्हें तुरंत हटाने के संचालकों को सख्त निर्देश दिए। सबसे अधिक कैफे शिक्षण संस्थानों के आसपास खुले हुए हैं। इन कैफों में देह व्यापार का धंधा करने की अक्सर शिकायतें मिलती रहती है। कुछ कैफे संचालकों द्वारा किराये पर केबिन दिये जाते हैं। आसपास रहने वाले बाशिदों द्वारा पुलिस को इस धंधे के बारे में शिकायतें की जा रही थी। शुक्रवार सुबह डीएसपी विनोद शंकर पुलिस फोर्स के साथ कार्रवाई के लिए निकल पड़े और एसडी कॉलेज के समीप कई कैफों पर छापे मारे।

कैफों में ना चाय ना पानी

पुलिस ने कैफों पर रेड की तो आंखें खुली की खुली रह गई। कैफों के नाम से चल रही दुकानों में चाय, कॉफी तो दूर की बात है पानी की बोतल तक नहीं मिली। फर्जी कैफों पर बैठने के लिए कुर्सी तक नहीं रखी थी। केवल कमरों के अंदर छोटे कैबिन बने हुए थे जिनमें गद्दे व बेड लगा रखे थे। पुलिस ने सभी कैफे संचालकों को कड़ी चेतावनी देते हुए गद्दे हटाने के निर्देश दिए।

कैफे वालों के टारगेट पर युवा

शहर में चल रहे अधिकतर साइबर कैफे शिक्षण संस्थाओं के पास खुले हुए हैं। कैफों में केबिन सुविधा उपलब्ध करवाई जाती है। कैफे संचालक युवा जोड़ों को केबिन में बैठने के लिए एक घंटे के 200 से व 500 रुपये तक वसूलते हैं। कई कैफे संचालक यहां आने वाले जोड़ों को पुलिस के साथ सांठ-गांठ होने व सुरक्षा का पूरा भरोसा देते हैं। इसके अलावा कुछ कैफों पर महिलाओं से देह व्यापार की शिकायतें भी आसपास के लोगों द्वारा की जाती है।

-------------------

पुलिस को कैफों पर संदिग्ध गतिविधियों की सूचना मिली थी। जिसके बाद पुलिस ने कैफों पर रेड की। कुछ कैफों पर अनियमितताएं मिली जिन्हें चेतावनी दी गई है। अगर भविष्य में भी इसी प्रकार से अनियमितताएं मिली तो पुलिस सख्त कार्रवाई करेगी।

- विनोद शंकर, डीएसपी।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021