संवाद सहयोगी, उकलाना: हिसार-चंडीगढ़ रोड पर तीन स्थानों पर हाईवे पूरा न होने के बावजूद टोल शुरू करने के विरोध में प्राईवेट बस संचालकों द्वारा आज निश्चितकालिीन हड़ताल शुरू की गई है। धरने के पास 145 प्राईवेट बसों को बाडो टोल पर खड़ा किया गया तथा 11 लोग भुख हड़ताल पर बैठ गए। निजी बस संचालकों के हड़ताल पर जाने से यात्रियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। गौरतलब है कि हिसार-नरवाना, हिसार-टोहाना, हिसार-उकलाना रोड पर सैंकड़ों की संख्या में निजी बसें चलती हैं। निजी बस संचालक यूनियन के वरिष्ठ नेता सुरेंद्र लितानी ने बताया कि हिसार-चंडीगढ़ हाइवे पर न तो अभी तक रेलवे लाइनों पर पुल बनाए गए हैं और न ही सर्विस लेन रोड बनाए गए हैं। इसके अलावा भी कई जगहों पर रोड अधूरा पड़ा है। इसके बावजूद टोल को शुरू कर दिया गया है। इस टोल पर दूसरे टोल की बजाय फीस भी ज्यादा वसूल की जा रही है। निजी बसों से हर चक्कर में टोल लिया जा रहा है और एक माह में प्रति बस से लगभग 45 हजार रुपये टोल के रुप में लिए जा रहे हैं। जिससे उनके ऊपर आर्थिक बोझ बढ़ गया है। इस बारे में वे कई बार प्रशासन से बात कर चुके हैं लेकिन कोई समाधान नहीं हो रहा है।

बॉक्स

31 को हिसार में सीएम को दिखाएंगे काले झंडे

सुरेंद्र लितानी ने कहा कि अगर उनकी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो 31 अक्टूबर को हिसार में आयोजित होने वाले स्वर्ण जयंती समारोह का विरोध किया जाएगा और प्रदेश की सभी 900 प्राइवेट बसों को हिसार में खड़ा किया जाएगा। इसके साथ ही कार्यक्रम में पहुंचने पर उपराष्ट्रपति और मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाए जाएंगे और विरोध जताया जाएगा

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस