हिसार, जेएनएन। कोविड केस बढ़ने के साथ-साथ कोविड अस्पताल की अब बहुत जरूर है। मगर अभी तक हिसार में निर्माणाधीन कोविड अस्पताल को शुरु होने में 12 दिन से अधिक का समय लगेगा। ऐसे में मौजूदा समय में इस अस्पताल के लिए चिकित्सक व पैरा मेडिकल स्टॉफ लगाने को श्रम विभाग के इएसआई अस्पताल की तरफ विचार किया जा रहा है। प्रदेशभर में यह असप्ताल मौजूद हैं इनका प्रयोग कोविड काल में अच्छे से किया जा सकता है। इन अस्पतालों में ड्यूटी की समय से होती है ऐसे में यहां मौजूद मैनपावर का प्रयोग किया जा रहा है। सरकार इस पर विचार कर रही है। जल्द ही इस पर फैसला आ सकता है।

20 से अधिक चिकित्सकों की आवश्यकता

अस्थाई कोविड अस्पताल के लिए  20 से अधिक तो चिकित्सक की आवश्यकता होगी। इसके साथ ही यहां 300 से अधिक पैरामेडिकल स्टॉफ की जरूरत होगी। स्टॉफ को देने की जिम्मेदारी सरकार ने स्वास्थ्य विभाग के महानिदेशक के जिम्मे दी है। अतिरिक्त मेडिकल स्टाफ के लिए और भी प्रयास किए जा रहे है।

प्रदेश में सुधरा ऑक्सीजन का उत्पादन

 वर्तमान समय में ऑक्सीजन एक बड़ा विषय था, लेकिन जिंदल स्टील लिमिटेड से यहां पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन की सप्लाई मिल जाएगी। इस अस्पताल की स्थापना से जींद, कैथल, भिवानी तथा दादरी सहित कई अन्य जिलों को उपचार सुविधा मिलेगी। प्रदेश में ऑक्सीजन की सप्लाई नियमित रूप से हो रही है। पिछले दिनों ऑक्सीजन की कमी इसलिए आई थी, क्योंकि प्रदेश में इसका उत्पादन काफी कम था, अब उत्पादन को लेकर गंभीर प्रयास किए जा रहे है। पीएम केयर व डीआरडीओ द्वारा प्रदेश में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किए जा रहे है, निजी अस्पतालों में भी ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किए जाने के निर्देश दिए गए है।

Edited By: Manoj Kumar